Breaking News यूपी

मोदी के मंत्रिमंडल विस्‍तार में यूपी के दलबदलू नेताओं ने मारी बाजी

b 1625668563 मोदी के मंत्रिमंडल विस्‍तार में यूपी के दलबदलू नेताओं ने मारी बाजी

लखनऊ। केन्‍द्रीय मंत्रिमण्‍डल विस्‍तार में भाजपा ने उत्‍तर प्रदेश से सात सांसदों को मंत्री बनाकर आगामी विधानसभा चुनाव को साधने का प्रयास किया है। मंत्रिमण्‍डल विस्‍तार में जहां सभी वर्गों का ध्‍यान रखा गया है वहीं यूपी के दलबदलू सांसदों ने मंत्री के रूप में शपथ लेकर बाजी मारने का काम किया है। बुधवार को यूपी के जिन सात सांसदों को मंत्री बनाया गया है उनमें से दो नेताओं को छोड़कर सबकी दलबदलू नेता के रूप में पहचान है।

सपा-बसपा में रहने के बाद भाजपा में आए एसपी सिंह बघेल

मोदी सरकार में मंत्री बने आगरा से सांसद एसपी सिंह बघेल भाजपा में आने से पहले सपा फिर बसपा में रह चुके हैं। एसपी सिंह बघेल 1998 में पहली बार सपा के टिकट पर जलेसर से विधानसभा का चुनाव लड़कर विधायक बने थे।

उसके बाद दो बार सांसद बने। इसके बाद एसपी सिंह बघेल बसपा में चले गये और 2010 में मायावती ने इन्‍हें राज्‍यसभा भेजा। बसपा में वह  राष्ट्रीय महासचिव भी रहे। बसपा से वह 2014 में फिरोजाबाद से लोकसभा का चुनाव लडे लेकिन हार गये।

इसके बाद वह बसपा से इस्‍तीफा देकर भाजपा में शामिल हुए 2017 के चुनाव में उन्‍हें टुंडला से टिकट दिया गया और जीतकर योगी सरकार में मंत्री बने। इसके बाद 2019  में उन्‍हें आगरा से लोकसभा का टिकट दिया गया और वह सांसद बने।

quint hindi 2019 05 a08ff51b 9a33 4efd b052 d61c608db0f2 30051 pti5 30 2019 000261b मोदी के मंत्रिमंडल विस्‍तार में यूपी के दलबदलू नेताओं ने मारी बाजी

सपा और कम्‍युनिस्‍ट पार्टी की राजनीति के बाद भाजपा में आए में कौशल किशोर

मोहनलाल से सांसद कौशल किशोर कम्‍युनिस्‍ट विचारधारा से ताल्‍लुक रखते हैं वह लगातार छ बार विधानसभा का चुनाव हार चुके हैं वह कई पार्टियों से चुनाव लड चुके हैं। कौशल किशोर 2002 में मलिहाबाद सुरक्षित सीट से विधायकी का चुनाव जीतकर मुलायम सरकार में राज्यमंत्री बने। परिवर्तन की नब्‍ज भांपते हुए वह 2013 में भाजपा में शामिल हुए। भाजपा के टिकट पर 2014 और 2019 का लोकसभा चुनाव लड़कर लोकसभा पहुंचे।

बीएल वर्मा भी कल्‍याण सिंह के साथ पार्टी छोड़कर चले गये थे बाहर

मूलरूप से बदायूं के रहने वाले राज्‍यसभा सांसद बीएल वर्मा वैसे तो संघ की प़ष्‍ठभूमि से आते हैं लेकिन जब कल्‍याण सिंह भाजपा छोड़कर जन क्रांति पार्टी बनाई थी, तब वह कल्‍याण सिंह के साथ बाहर चले गये थे। कल्‍याण सिंह ने इन्हें प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी थी। कल्‍याण सिंह जब भाजपा में वापस आये तब बीएल वर्मा भी भाजपा में आ गये तब से वह भाजपा में हैं।

कांग्रेस से भाजपा में आए अजय मिश्रा टेनी

मोदी सरकार में शामिल मंत्री व खीरी लोकसभा से सांसद अजय मिश्र टेनी कांग्रेस पार्टी से भाजपा में आए हैं। भाजपा में आने के बाद वह कुछ दिन संगठन में काम करने के बाद भाजपा के टिकट पर निघासन से विधायक चुने गयेा इसके बाद खीरी से लगातार दूसरी बार भाजपा से सांसद हैं।

बाहरी हैं अनुप्रिया पटेल

अनुप्रिया पटेल अपना दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। अपना दल भाजपा का सहयोगी दल है। अनुप्रिया मोदी के 2014 के कार्यकाल में भी राज्यमंत्री रही हैं। अनुप्रिया को मोदी के दूसरे कार्यकाल में यूपी के‍ विधानसभा चुनाव को देखते हुए मंत्री बनाया गया है।

Related posts

कानपुर: ‘खेला होई’ के बाद अब लगे ‘चंदा चोरों से सावधान!’ की होर्डिंग।

pratiyush chaubey

ससुराल में विधवा महिला के साथ शादी का झांसा देकर देवर करता था दुष्कर्म

Rahul srivastava

सीएम अखिलेश ने बुलाई यूथ नेताओं और विधायकों की आपात बैठक, करीब 150 से ज्यादा विधायक पहुंचे

piyush shukla