4526 अवैध अतिक्रमणों का ध्वस्तीकरण, 7821 अतिक्रमणों का चिन्हीकरण व 117 भवनों के सीलिंग का कार्य सम्पादित

देहरादून। अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने बताया कि मा.न्यायालय के निर्देशों के क्रम में देहरादून शहर में मसूरी-देहरादून विकास प्राधिकरण, नगर निगम देहरादून एवं जिला प्रशासन देहरादून द्वारा जन सामान्य हेतु बनाये गये फुटपाथों, गलियों, सड़कों एवं अन्य स्थलों पर किये गये अनधिकृत निर्माणों एवं अवैध अतिक्रमणों में ध्वस्तीकरण, चिन्हांकन व सीलिंग का कार्य निरन्तर किया जा रहा है।

बता दें कि अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने बताया कि मा.न्यायालय के निर्देशानुसार शहर से अवैध अतिक्रमणों को हटाने का कार्य तीव्र गति से किया जा रहा है। ओमप्रकाश ने टास्क फोर्स को निर्देश दिये है कि शहर से अवैध अतिक्रमण हटाने के कार्य में किसी भी प्रकार की ढ़िलाई न बरती जाए। उन्होंने बताया कि बारिश के दौरान सड़कों पर हुए गढ़डों को भरने का कार्य भी गतिमान है। ओमप्रकाश ने सिंचाई विभाग को निर्देश दिये कि शहर में जिन-जिन स्थानों पर सिंचाई विभाग की जमीन पर अतिक्रमण हुआ है, ऐसे स्थानों से अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही शीघ्रता के साथ सम्पन्न करें, ताकि अग्रिम कार्यवाही सम्पादित की जाए।

ओमप्रकाश ने कहा कि जिन स्थानों पर अतिक्रमणकारियों द्वारा अपने अतिक्रमणों को हटाया गया है, उन स्थानों पर कुछ अतिक्रमणकारियों द्वारा अपने भवन के मलबे का उठान अभी तक नही किया गया है। जिससे की आवागमन में कठिनाईयां उत्पन्न हो रही है व ट्रैफिक जाम भी ऐसे स्थानों पर लग रहा है। ओमप्रकाश ने नगर आयुक्त को निर्देश दिये है कि ऐसे मलबे का उठान नगर निगम द्वारा किया जाए व संबंधित भवन स्वामी को नोटिस जारी कर मलबे के उठाने की वसूली भी की जाए।

ओमप्रकाश ने बताया कि गुरूवार को इस अभियान के अन्तर्गत 92 अवैध अतिक्रमणों के ध्वस्तीकरण, 104 अतिक्रमणों के चिन्हीकरण व 03 भवनों के सिलिंग का कार्य सम्पादित किया गया है। इस प्रकार अब तक कुल 4526 अवैध अतिक्रमणों का ध्वस्तीकरण, 7821 अतिक्रमणों का चिन्हीकरण व 117 भवनों के सीलिंग का कार्य सम्पादित किया जा चुका है।