पुलिस लाइन देहरादून में वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया

देहरादून। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग, नई दिल्ली द्वारा पारित दिशा-निर्देशों के अनुपालन में पुलिस कर्मियों में मानवाधिकार के प्रति जागरुकता लाने तथा मानवाधिकारों के प्रचार प्रसार हेतु मानवाधिकार विषय पर तेरहवीं राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता (Debate Competition) का आयोजन आज दिनांक 12-06-2018 को पुलिस लाइन देहरादून में किया गया।
मानवाधिकार बाधा नहीं यह एक मार्गदर्शी सिद्धांत है। इससे पूर्व प्रदेश के सभी जनपद एवं रेंज स्तर पर वाद-विवाद प्रतियोगिता का प्रथम एवं द्वितीय चरण आयोजित किया गया था। दोनों रेंज से कुल 12 प्रतिभागियो को राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता हेतु चयन किया गया।

 

बता दें कि प्रतियोगिता का संचालन श्रीमती जया बलूनी, क्षेत्राधिकारी डालनवाला, देहरादून द्वारा किया गया। प्रतियोगिता की निर्णायक समिति में श्री आर0के0 भाटिया, सेवानिवृत पुलिस महानिदेशक, आई0टी0बी0पी0, श्री सुनील कुमार गुप्ता (एच0जे0एस0, से0नि0), निबंधक (विधि), उत्तराखण्ड मानवाधिकार आयोग, श्री दीपम सेठ पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड मौजूद रहे। उक्त विषय पर पक्ष एवं विपक्ष में बोलने वाले प्रतिभागियों द्वारा अपने-अपने विचार रखे। जहां पक्ष में बोलने वालों ने मानवाधिकार को वर्तमान परिवेश की आवश्यकता बताते हुये इसे मार्गदर्शी सिद्धांत बताया वहीं विपक्ष के वक्ताओं ने मानवाधिकार को बाधा बताते हुये दिशा-निर्देशों में संशोधन एवं पुर्नविश्लेषण की मांग की।

वहीं प्रतियोगिता की समाप्ति के पश्चात निर्णायक समिति के सदस्यों द्वारा भी अपने-अपने विचार व्यक्त करते हुए प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन किया गया। निर्णायक मण्डल द्वारा प्रतिभागियों द्वारा प्रस्तुत विषयवस्तु, प्रस्तुतिकरण तथा वाकपटुता की भूरी-भूरी प्रशंसा की गयी । साथ ही वर्तमान परिवेश में मानवाधिकारों की महत्ता तथा पुलिस द्वारा उनके संरक्षण की आवश्यकता की बात कही गयी।

निम्नलिखित प्रतिभागियों द्वारा क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किये गयेः-

1- उ0नि0 ना0पु0 तनुजा शर्मा, हरिद्वार – प्रथम

2- का0 2616 शुभम जोशी, 46वीं वाहिनी – द्वितीय

3- पीसी अनिता राणा, 31वीं वाहिनी पीएसी – तृतीय

साथ ही प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को क्रमशः रुपये 3000/-, 2000/- एवं 1000/- का नगद पारितोषिक, प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र एवं प्रतियोगिता में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाली कुमायूँ परिक्षेत्र की टीम को चल बैजयन्ती ट्राफी (Running Trophy) निर्णायक समिति के सदस्यों द्वारा प्रतियोगिता स्थल पर ही प्रदान किये गये। प्रतियोगिता के सफल संचालन हेतु अशोक कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड द्वारा प्रीति प्रियदर्शनी, पुलिस अधीक्षक, मानवाधिकार, चक्रधर अन्थवाल, पुलिस उपाधीक्षक, पुलिस मुख्यालय तथा एस0सी0 बलूनी, प्रतिसार निरीक्षक, पुलिस लाईन देहरादून, को बधाई दी।