September 18, 2021 7:17 am
featured देश

चक्रवात यास- 24 घंटे में ओडिशा-बंगाल के तटों से टकराने के आसार, मचा सकता है तबाही

Cyclone चक्रवात यास- 24 घंटे में ओडिशा-बंगाल के तटों से टकराने के आसार, मचा सकता है तबाही

देश में ताउते तूफान के बाद अब यास चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है। बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना गहरे दबाव का क्षेत्र चक्रवाती तूफान ‘यास’ में बदल गया है। यास भीषण चक्रवाती तूफान में बदलने के बाद कल ओडिशा-बंगाल के तटों से टकराएगा। तूफान के टकराने से पहले कई इलाकों में आज से ही बारिश शुरू हो गई है। ओडिशा के भुवनेश्वर, चांदीपुर और बंगाल के दिघा में आज बारिश हो रही है। वहीं तूफान को लेकर बिहार और झारखंड में भी अलर्ट जारी किया गया है।

165 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं

अनुमान लगाया जा रहा है कि ये तूफान काफी भीषण होगा। जिसमें 155-165 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार हवाएं चलेंगी। इसके अलावा समुद्र में 2 मीटर से 4.5 मीटर तक लहरें उठ सकती हैं। मौसम विभाग का कहना है कि समुद्र तट से टकराने से पहले यास काफी ज्यादा खतरनाक हो सकता है। समुद्र तट से गुजरने के बाद बुधवार दोपहर तक इसका असर और बढ़ने की आशंका है।

ओडिशा के 6 जिलों पर सबसे ज्यादा खतरा

यास तूफान का सबसे ज्यादा असर बंगाल-ओड़िशा में देखने को मिलेगा। लिहाजा प्रशासन व सरकार ने राहत बचाव के लिए आपदा टीमें तैनात कर दी हैं। इसके अलावा एयरफोर्स और नेवी ने भी अपने कुछ हेलिकॉप्टर और नावें राहत कार्य के लिए रिजर्व रखे हुए हैं। तूफान को लेकर ओडिशा के बालासोर, भद्रक, केंद्रपारा, जगतसिंघपुर, मयूरभंज और केओनझार जिले हाई रिस्क जोन घोषित किए गए हैं।

बंगाल में 10 लाख लोग सुरक्षित जगह पर पहुंचाए गए

इधर बंगाल में यास का खतरा देखते हुए राज्य में करीब 10 लाख लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचाया जा रहा है। एक अनुमान है कि, कोलकाता, हावड़ा, हुगली में बुधवार को 70-80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। उत्तरी और दक्षिणी 24 परगना के तटीय इलाकों में 90 से 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने के आसार हैं। सीएम ममता बनर्जी का कहना है कि यास अम्फान तूफान से भी ज्यादा खतरनाक होगा।

बिहार-झारखंड में अलर्ट

यास तूफान को लेकर बिहार और झारखंड में भी अलर्ट किया गया है। मौसम विभाग का अनुमान है कि, अगले 2-3 दिनों में राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। लिहाजा राज्य में 27 और 28 मई के लिए ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है। उधर झारखंड में यास को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा राहत बचाव के लिए पूर्वी सिंघभूम और रांची जिलों में NDRF की टीमें भी तैनात कर दी गई हैं।

 

Related posts

मायावती ने बढ़ाया वैज्ञानिकों का हौसला, कहा अब तक जो भी सफलता मिली वो गर्व के लायक

Rani Naqvi

नौसेना ने तेजस को किया ख़ारिज, मेक इन इंडिया’ को झटका

Rahul srivastava

मुजफ्फरपुर रेप मामला को लेकर सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना

rituraj