cyclone आज शाम को आने वाला है चक्रवाती तूफान 'निवार'! तमिलनाडु और पुड्डुचेरी में धारा 144 लागू

देश में आज एक चक्रवाती तूफान दस्तक देने को तैयार है. बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना गहरे दबाव का क्षेत्र चक्रवात ‘निवार’ में परिवर्तित हो गया है और इसके आज यानी बुधवार को भारी तूफान के रूप में तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकराने की आशंका है. तूफान के मद्देनजर तमिलनाडु और पड़ोसी केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी के प्रशासन को अलर्ट पर रखा गया है और असुरक्षित इलाकों से लोगों को निकालने सहित एहतियाती उपाय सरकार द्वारा किए जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि तूफान निवार आज शाम को समुद्री तट पर टकराने वाला है.

तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी में ‘अत्यंत गंभीर चक्रवाती तूफान’ ‘निवार’ के मद्देनजर आपदा मोचन बल (NDRF) के करीब 1200 बचावकर्मियों को तैनात किया गया है और 800 अन्य को तैयार रखा गया है. इस चक्रवात के बुधवार शाम आने की संभावना है.

मौसम विभाग के मुताबिक, ‘निवार’ आज चेन्नई से 50 किलोमीटर दूर राज्य के मामल्लापुरम और पुडुचेरी के कराईकल तट से बुधवार देर शाम भारी तूफान के रूप में टकरा सकता है और इस दौरान 100 से 110 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती है, जिसकी गति 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक जा सकती है. आज तूफान के प्रभाव से तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के ज्यादातर हिस्सों में बारिश हो सकती है. कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश भी हो सकती है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी से बातचीत कर तूफान से पैदा हालात की जानकारी ली और केंद्र से हर संभव मदद का भरोसा दिया. इस बीच, तमिलनाडु और पुडुचेरी के कई इलाकों में मंगलवार से बारिश शुरू हो गई और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF), तटरक्षक बल, दमकल विभाग सहित विभिन्न राज्य और केंद्रीय एजेंसियों के कर्मचारियों की तैनाती किसी भी स्थिति से निपटने के लिए की गई है.

सार्वजनिक अवकाश की घोषित
तूफान के मद्देनजर तमिलनाडु और पुडुचेरी में बुधवार को सार्वजनिक छुट्टी घोषित की गई है और सार्वजनिक परिवहन को स्थगित कर दिया गया है. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी कहा है कि आज राज्य में आम छुट्टी होगी लेकिन आवश्यक सेवा से जुड़े कर्मी काम करेंगे. वहीं, पुडुचेरी के उद्योग एवं राजस्व मंत्री एमओएचएफ शाहजहां ने कहा था कि बुधवार को सभी सरकारी कार्यालयों में छुट्टी होगी और लोगों की सुरक्षा के लिए सभी कदम उठाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि तूफान के मद्देनजर दवा, दूध् जैसी आवश्यक सामग्री की दुकानों को छोड़ बाकी सभी प्रतिष्ठान मंगलवार से लेकर बृहस्पतिवार सुबह छह बजे तक बंद रहेंगे.

इन जगहों पर आ सकता है तूफान
प्रधान ने बताया कि 20 अतिरिक्त दल तैयार रहेंगे, जिन्हें कटक (ओडिशा), विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश) और त्रिशूर (केरल) जैसे स्थानों से विमान के जरिए पहुंचाया जाएगा. NDRF प्रमुख ने बताया कि टीमों के पास सभी प्रकार के संचार यंत्र और खंभे और पेड़ काटने के उपकरण हैं और कर्मियों को कोविड-19 हालात के मद्देनजर व्यक्तिगत सुरक्षा किटें मुहैया कराई गई हैं.

लव जिहाद को लेकर योगी सरकार ने अपनाया कड़ा रुख, कानून का उल्लंघन करने पर होगी भारी जुर्माने के साथ 10 साल की सजा

Previous article

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने मेंदात अस्पताल में ली अंतिम सांस, पीएम मोदी से लेकर इन राजनेताओं ने जताया दुख

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.