Bharat khabar phrameF copy राजधानी भोपाल में महिलाओं के खिलाफ अपराधों में लगातार हो रहा इजाफा, IPC की गंभीर श्रेणियों के मुकदमों का बढ़ा ग्राफ

भोपाल। राजधानी भोपाल में इंडियन पीनल कोड (आईपीसी) में शुमार गंभीर अपराधों की छह कैटेगरी में महिलाओं पर होने वाले अपराध लगातार बढ़ रहे हैं। खासकर महिलाओं को अगवा करने के मामलों में वर्ष 2018 के मुकाबले नवंबर 2019 तक 27 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। यानी हर रोज एक महिला को अगवा किया जा रहा है। इन 11 महीनों में 1240 मामले ऐसे हैं, जिनमें महिलाओं के साथ गाली गलोच करते हुए धमकियां दी गई हैं।

महिला संबंधी अपराधों यानी अपहरण, बलात्कार, छेड़छाड़, दहेज हत्या, प्रताड़ना और गाली गलोच के आंकड़े बीते साल के मुकाबले 8.17 फीसदी तक बढ़े हैं। जनवरी से नवंबर 2018 के बीच इन अपराधों में राजधानी का आंकड़ा 2706 पर था। इस साल नवंबर महीने तक ये आंकड़ा 3009 पर जा पहुंचा है।

पिछले 11 महीनों में… महिलाओं को अगवा करने की घटनाओं में 27 फीसदी का हुआ इजाफा 3009 महिला अपराध 2019 में 2706 अपराध  2018 में तीन साल से बढ़ रहे आंकड़े तर्क यह कि -केस दर्ज करने में कोताही नहीं… इन 11 महीनों के भीतर वर्ष 2017 में 2368 अपराध दर्ज हुए थे, जो वर्ष 2018 के आंकड़ों से 338 कम थे। डीआईजी इरशाद वली का कहना है कि महिला संबंधी अपराधों में गंभीरता दिखाने के निर्देश दिए गए हैं। महिलाओं से जुड़े अपराध दर्ज करने में कभी कोताही नहीं बरती गई, इसलिए ये आंकड़ा थोड़ा बढ़ा है।

गाली गलोच और धमकी: महिलाओं से गाली गलोच और धमकाने के मामले भी लगातार बढ़े हैं। बीते साल नवंबर माह तक ये संख्या 1190 थी, जो इस साल बढ़कर 1240 पर पहुंच गई है। ऐसे ही दहेज प्रताड़ना से जान देने वाली महिलाओं की संख्या इस बार 14 है। वर्ष 2018 में 12 महिलाओं ने दहेज प्रताड़ना से तंग आकर जान दी थी। घटीं लूट और चोरियां : इस बार राजधानी पुलिस ने लूट और चोरी के अपराधों में थोड़ी कमी लाई है। लूट की घटनाएं 117 से घटकर 102 पर आ गई हैं। वहीं, वर्ष 2018 में 1007 चोरियां हुई थीं, जो इस साल 957 पर आ गई हैं। बीते साल 2245 वाहन चोरी हुए थे। इस साल 1967 वाहन चोरी हुए हैं।

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

CAA के विरोध में वे मंडी हाउस से जंतर मंतर तक पैदल मार्च करेंगे प्रदर्शनकारी,  इलाके में धारा 144 लागू

Previous article

अखिलेश ने भाजपा बोला हमला, बताया किसानों को नजरअंदाज करने वाली पार्टी

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in देश