featured यूपी

गोमती नदी के किनारे बना शमशान घाट, शव जलाने के लिए कम पड़ रही जगह

गोमती नदी के किनारे बना शमशान घाट, शव जलाने के लिए कम पड़ रही जगह

लखनऊ: स्वास्थ्य सुविधाओं से लेकर के शमशान घाट तक लोगों को घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। ऐसा ही नजारा लखनऊ में गोमती नदी के किनारे दिखाई दिया। जहां शव जलाने के लिए लंबी कतार दिखाई दी।

4 से 5 घंटे का लंबा इंतजार

एक शव को जलाने के लिए परिजन शमशान घाट पर लंबा इंतजार कर रहे हैं। बैकुंठ धाम पर शनिवार को भी लंबी लाइन देखी गई। इस दौरान यहां 100 से अधिक लोगों का दाह संस्कार किया गया। खबरों के अनुसार लोगों को 4 से 5 घंटे का लंबा इंतजार करना पड़ रहा है इसके बाद नंबर आ रहा है। संक्रमण के इस बढ़ते दौर में यह स्थिति उनके लिए भी खतरा पैदा कर रही है।

शव जलाने के लिए कम पड़ रही जगह

राजधानी लखनऊ में शमशान घाट हर जगह कम पड़ रही है। ऐसे में कई अन्य अस्थाई जगहों को चिन्हित किया जा रहा है, जहां अब शव जलाये जा रहे हैं। यहां भारी संख्या में कोरोना और गैर कोरोना शव पहुंच रहे हैं। इसी के कारण लंबी लाइन भी देखने को मिल रही है। गोमती नदी के किनारे 1 किलोमीटर तक चिता जलाने की तैयारी कर ली गई है।

तैयारियों में जुटा नगर निगम

हालांकि लखनऊ नगर निगम की तरफ से कई तरह की तैयारियों किया जा रहा है, जिनमें लकड़ी और नया स्थान खोजे जा रहे हैं। 50 ऐसे नए स्थान बना दिए गए हैं, जहां अब शव जलाए जाएंगे। इसके बावजूद कई ऐसी दिक्कतें हैं, जिनका सामना परिजनों को और स्वास्थ्य कर्मियों को करना पड़ रहा है। बढ़ते संक्रमण के चलते लखनऊ इन दिनों कोरोना की सबसे बुरी मार झेल रहा है।

Related posts

यूपी के गोंडा में तीन दलित नाबालिग बहनों के ऊपर तेजाब फेंका, बुरी तरह जली

Samar Khan

केदारनाथ बद्रीनाथ और गंगोत्री में बर्फ़बारी-लोगों ने उठाया लुत्फ

mohini kushwaha

सीएम चौहान ने पिछड़ा वर्ग महाकुंभ में समाज-सेवियों को किया सम्मानित

mahesh yadav