UP: अब बिना मास्‍क पहने घूमने पर खैर नहीं, स्‍कूलों के लिए भी मुख्‍यमंत्री का नया आदेश

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए रविवार (11 अप्रैल) से ‘टीका उत्‍सव’ मनाया जा रहा है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने रविवार को शक्ति भवन पहुंचकर ‘टीका उत्‍सव’ का निरीक्षण किया है।

इसके बाद सीएम योगी ने कोरोना संक्रमण पर प्रभावी अंकुश लगाने व स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत करने के लिए गठित टीम 11 के अध्यक्षों के साथ एक समीक्षा बैठक की। इस बैठक में उन्‍होंने कोरोना संक्रमण की स्थिति जानी और अधिकारियों को विशेष दिशा-निर्देश दिए।

इन जगहों पर नाइट कर्फ्यू लगाने के निर्देश

बैठक में मुख्‍यमंत्री योगी ने कहा कि, प्रदेश के जिन जिलों में कोरोना के हर दिन 100 से ज्‍यादा केस मिल रहे हैं या जहां कुल एक्टिव केस की संख्या 500 से ज्‍यादा है, वहां रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया जाए। उन्‍होंने कहा कि, ऐसे जिलों में कंटेनमेंट जोन की व्‍यवस्‍था को भी सख्‍ती से लागू किया जाए।

मास्‍क न लगाने वालों पर लगेगा जुर्माना

सूबे के मुखिया ने कहा कि, निगरानी समितियों और इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर की उपयोगिता बढ़ाई जाए। पब्लिक एड्रेस सिस्टम का ज्‍यादा से ज्‍यादा इस्‍तेमाल किया जाए। साथ ही उन्‍होंने सख्‍ती से कहा कि, कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालों और मास्क न लगाने वाले लोगों पर विधिसम्मत जुर्माना लगाया जाए।

सीएम योगी ने कहा कि, सभी जिलों में PPE किट, पल्स ऑक्सीमीटर, इंफ्रारेड थर्मामीटर, सैनिटाइजर, एंटीजन किट सहित सभी आवश्यक लॉजिस्टिक्स की पर्याप्त व्यवस्था की जाए। उन्‍होंने सख्‍त निर्देश देते हुए कहा कि, किसी भी जिले से लॉजिस्टिक्स के अभाव की शिकायत नहीं आनी चाहिए। अगर कमी होती है तो तुरंत शासन को अवगत कराएं।

30 अप्रैल तक बंद रखें स्‍कूल: सीएम योगी

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि, प्रदेश में कक्षा 01 से 12वीं तक के सभी सरकारी/गैर सरकारी विद्यालयों में 30 अप्रैल तक पठन-पाठन स्थगित रखा जाए। साथ ही कोचिंग सेंटर भी बंद रखे जाएं। इस अवधि में पूर्व निर्धारित परीक्षाएं हो सकती हैं और आवश्यकता के अनुरूप शिक्षक व अन्य स्टाफ आ सकते हैं।

सभी जिलों में पर्याप्‍त वेंटिलेटर मौजूद: मुख्‍यमंत्री  

सूबे के मुखिया ने कहा कि, प्रदेश के सभी जिलों में HFNC और वेंटिलेटर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। बदलती परिस्थितियों की लगातार समीक्षा करते हुए आवश्यकतानुसार अतिरिक्त प्रबंध किए जाएं। उन्‍होंने सभी विभागों के कार्मिकों को आवश्यकतानुसार कोविड प्रबंधन के कार्य से जोड़ने के भी निर्देश दिए हैं।

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि, अतिरिक्त मानव संसाधन के लिए भी स्वीकृति दी गई है। उन्‍होंने निर्देश देते हुए कहा कि, एनएसएस (NSS), एनसीसी (NCC) और सिविल डिफेंस की सेवाएं भी ली जाएं। साथ ही उन्‍होंने नगर विकास यूपी और यूपी ग्रामीण द्वारा विशेष स्वच्छता अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा कि, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सैनिटाइजेशन के साथ स्वच्छता का विशेष महत्व है।

सीएम ने कहा- आने वाले दिन चुनौतीपूर्ण

समीक्षा बैठक में मुख्‍यमंत्री योगी ने कहा, आने वाले दिन हमारे लिए चुनौतीपूर्ण होंगे। हमें इनका सफलतापूर्वक सामना करना है। कोविड-19 के खिलाफ वर्ष 2020 से जारी इस युद्ध में प्रदेश के सभी जिलों ने कोविड प्रबंधन का बेहतरीन उदाहरण पेश किया। इस बार भी हम टीम वर्क से इस लड़ाई को जरूर जीतेंगे।

इसके अलावा मुख्‍यमंत्री ने सभी कार्यालयों/औद्योगिक इकाइयों में कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन व कोविड हेल्प डेस्क की सक्रियता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्‍होंने कहा कि, मतदानकर्मियों, पुलिसकर्मियों और स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों की सुविधा और सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाए।

निराश्रित गो-आश्रय स्थलों में सुदृढ़ व्‍यवस्‍था के निर्देश

सीएम योगी ने कहा कि, निराश्रित गो-आश्रय स्थलों में व्यवस्था सुदृढ़ की जाए। भूसा बैंकों में भूसे की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। गो-वंश के चारे की कोई कमी न रहे। इसके लिए आमजन से भी सहयोग प्राप्त करें।

अब भाजपा का ये विधायक भी कोरोना संक्रमित, जानिए कहां का है मामला

Previous article

रमजान व नवरात्र से पहले सरकार के इस आदेश को जरूर जान लें, वरना…

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured