IIT Kanpur में लगे देश के पहले सुपर-सुपर कंप्यूटर के क्या हैं फायदे

कानपुर: कंप्यूटर की तकनीकी में लगातार बदलाव करके इसे और बेहतर किया जा रहा है। ऐसे में देश का पहला सुपर-सुपर कंप्यूटर आईआईटी कानपुर में स्थापित कर दिया गया। यह पहली ऐसी हाईटेक तकनीकी है, जिसका इस्तेमाल अब कई क्षेत्रों में किया जाएगा।

1.3 पेटा फ़्लॉप है स्पीड

कंप्यूटर की भाषा में समझें तो इस सुपर-सुपर कंप्यूटर की स्पीड 1.3 पेटा फ्लॉप है। यह देश का सबसे एडवांस कंप्यूटर है, जिसे आईआईटी कानपुर कैम्पस में लगा दिया गया है। ऐसे ही कई अन्य कंप्यूटर आईआईटी रुड़की, आईआईटी मंडी में भी लगाने की तैयारी है। इसके पहले भी कानपुर में दो सुपर कंप्यूटर लगाये जा चुके ,हैं इसके बाद अब देश का पहला सुपर-सुपर कंप्यूटर भी यहीं स्थापित किया गया।

होगी कई क्षेत्रों में बेहतर समझ

इस कंप्यूटर की क्षमता का इस्तेमाल करके कई अनसुलझे रहस्यों को सुलझाया जा सकेगा। भूकंप, जलवायु परिवर्तन, ब्रह्मांड, आकाशगंगा जैसे कई विषयों पर विस्तृत जानकारी वैज्ञानिकों को मिल सकेगी। रिसर्च के क्षेत्र में भी यह काफी मददगार हो सकता है। आईटी कानपुर में ऐसे कई तरीके के शोध किए जा रहे हैं, जिनसे समाज को बेहतर करने की कोशिश जारी है।

इस सुपर-सुपर कंप्यूटर को संचालित करने के लिए सीडैक (सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस्ड कंप्यूटिंग) के साथ समझौता किया गया है। इस कंप्यूटर का इस्तेमाल सिर्फ वैज्ञानिक ही नहीं, छात्र भी कर सकेंगे। यह आने वाले समय में काफी मददगार साबित होने वाला है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट के लॉकडाउन वाले फैसले को SC में चुनौती देगी यूपी सरकार

Previous article

UP: कोरोना संक्रमण से हुई पूर्व सांसद जगदीश राणा की मौत

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.