BharatKhabar.Com

चीनी सेना में भ्रष्टाचार, जिनपिंग ने तीन लाख सैनिकों को किया निष्काशित

बीजिंग। दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सैन्य ताकत वाले चीन ने अपने सैनिकों में कटौती कर दी है। चीनी मिलिट्री की ओर से ऐलान किया गया है कि वे अपने ट्रूप्स में कटौती करेगी। चीनी मिलिट्री की तरफ से तीन लाख सैनिकों की कटौती करने का ऐलन किया गया है। मिलिट्री की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ऐसा मिलिट्री में सुधारों की वजह से किया जा रहा है। आपको बता दें कि जब से शी जिनपिंग ने पिछले दिनों चीनी राष्‍ट्रपति के तौर पर दोबारा सत्‍ता संभाली है तब से ही सेनाओं में लगातार सुधार किया जा रहा है। china army चीनी सेना में भ्रष्टाचार, जिनपिंग ने तीन लाख सैनिकों को किया निष्काशित

साथ ही सेना से जुड़े कई फैसलों को सार्वजनिक किया जा रहा है। चीनी मिलिट्री की ओर से कहा गया है कि सैनिकों में कटौती करने का मकसद मिलिट्री की लड़ने की ताकत में और इजाफा करना और इसकी गुणवत्‍ता में सुधार करना है। चीनी मिलिट्री की क्षमता अब दो मिलियन सैनिकों की है। चीन के रक्षा प्रवक्‍ता कर्नल रेन ग्‍यूओकियांग ने मीडिया को बताया, ‘हमने तीन लाख सैनिकों की कटौती करने का लक्ष्‍य तय किया था और अब हमने उसे हासिल कर लिया है।

सीपीसी की मानें तो आने वाले समय में सेनाओं में और सुधार किए जाएंगे। उन्‍होंने इस फैसले को चीन की सत्‍ताधारी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ चाइना  का अहम फैसला करार दिया है। साल 2015 में चीन में हुई मिलिट्री परेड में राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने सैनिकों की संख्‍या में तीन लाख की कटौती का ऐलान किया गया था। पीपुल्‍स लिब्रेशन आर्मी की क्षमता साल 1980 तक 4.5 मिलियन थी। साल 1985 में इसे तीन मिलियन किया गया और बाद में इसे 2.3 मिलियन कर दिया गया था।

Exit mobile version