September 26, 2022 9:34 am
हेल्थ

सावधान- मच्छरों के काटने से होता है कोरोना वायरस?

mosqito 2 सावधान- मच्छरों के काटने से होता है कोरोना वायरस?

पूरी दुनिया में मौत का ताडव काट रहा चीन से निकला कोविड-19 कोरोना वायरस अब तक हजारों की जान ले चुका है। दुनिया में लाखों लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। आने वाले समय में ये माहामारी और कितनी तबाही मचाएगा किसी को नहीं पता लेकिन इस बीच एक खबर बहुत वायरल हो रही है कि क्या मच्छरों के काटने से कोरोना वायरस होता है। गर्मियों के मौसम के बीच इस खबर ने आम हो या खास सभी का हाथ पांव फुला दिए हैं।

mosqito सावधान- मच्छरों के काटने से होता है कोरोना वायरस?
कोरोना वायरस के इलाज को लेकर कई तरह की भ्रामक जानकारियां भी मौजूद हैं। कुछ का कहना है कि यह मच्छर के काटने से भी हो सकता है । चलिए आपको बतातें हैं इसके पीछे की क्या सच्चाई है।
जैसे ही ये खबर सोशल मीडिया पर फैली की मच्छरों के काटने से कोरोना वायरस फैलता है । लोगों में डर का मौहोल फैल गया। वो तरह-तरह की बाते फैलाकर भ्रान्तियां फैलाने लगे।
लेकिन अब आपको घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि डॉक्टरों ने इस पर बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि, मच्छर केवल डेंगू, येलो फीवर, चिकनगुनिया, रोज रिवर और जीका वायरस फैला सकते हैं. लेकिन कुछ वायरस उनकी पकड़ से बाहर होते हैं। कोरोना वायरस के अलावा एचआईवी और इबोला भी ऐसे ही वायरस हैं जो मच्छरों के काटने से नहीं फैलते हैं। क्योंकि यह एक रेस्पिरेटरी वायरस है, जो छींक या खांसी से एक से दूसरे में फैलता है। न कि मच्छरों के काटने से फैलता है।

https://www.bharatkhabar.com/how-can-you-increase-your-immunity-power/
सेंट्रल फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन, अमेरिका का कहना है कि, ये वायरस ज्यादातर एक-दूसरे के संपर्क में आने से फैलता है। खांसते या छींकते वक्त अगर किसी संक्रमित के ड्रॉपलेट्स स्वस्थ व्यक्ति पर गिर जाएं तो वह कोरोना वायरस का शिकार हो सकता है।
इसीलिए अब आपको घबराने और न ही डरने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि मच्छरों के काटने से कोरोना नहीं फैलता है।
कोरोना से बचने का सबसे आसान और सही तरीका है अपने घर में रहें। सरकार के नियमों का पालन करें। भारत खबर आपसे अपील करता है कि इस मुसीबत की घड़ी में न खुद अफवाह फैलाएं और न फैलने दें।

Related posts

देश में कोरोना का कहर, पिछले 24 घंटों में मिले 22,775 नए केस, 406 लोगों की मौत

Rahul

कोविड की चुनौतियों से निपटने में सहायक होगा ये अस्पताल

sushil kumar

रात को बार-बार पेशाब आने का संबंध है खर्राटों से

bharatkhabar