featured यूपी

भयावह नहीं होगी कोरोना की तीसरी लहर : डॉ. विनोद जैन

कोरोना की तीसरी लहर

लखनऊ। आईसीएमआर और आईआईटी विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना की तीसरी लहर आएगी, लेकिन उतनी भयावह नहीं होगी, जितनी दूसरी लहर थी। इसलिए कोरोना की तीसरी लहर को लेकर अभिभावकों को ज्यादा चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है। यह बातें किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के सर्जरी विभाग के प्रोफेसर डा. विनोद जैन ने गुरूवार को  सूचना संवाद केंद्र में आयोजित ‘बच्चे हैं अनमोल’ कार्यक्रम में कहीं।

डा. विनोद जैन ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में लगभग 12 प्रतिशत ही बच्चे संक्रमित हुए, जबकि कुल संख्या 41 प्रतिशत है। वयस्क और बुजुर्गों का टीकाकरण हो गया है, अगस्त के अंत तक बच्चों के लिए भी वैक्सीन आने की संभावना है। ऐसे में जब तक बच्चों की वैक्सीन नहीं आ जाती है, तब तक हमें विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है।
मुख्य वक्ता केजीएयू के वरिष्ठ सर्जन डॉ. विनोद जैन ने कहा कि हमारे देश में 18 वर्ष से कम आयु के लोगों का अभी वैक्सीनेशन नहीं हुआ, इसलिए तीसरी लहर को लेकर लोग ज्यादा चिंतित हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोना से बच्चों को बचाने के लिए उनकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की जरूरत है, जिसके लिए भरपूर नींद, पौष्टिक भोजन, व्यायाम और तनावमुक्त वातावरण जरूरी है। इसके साथ ही बच्चों की सुरक्षा के लिए वयस्कों को वैक्सीन लगवाना बहुत आवश्यक है। मास्क का इस्तेमाल अवश्य करें, इसके इस्तेमाल से संक्रमित होने की संभावना सिर्फ 5 फीसदी रह जाती है।

सोशल मीडिया ने समाज में फैलाया कोरोना का भय
कार्यक्रम के विशिष्ट वक्ता वरिष्ठ पत्रकार अजय कुमार ने कहा कि जब कोरोना की पहली लहर आई तो इसके बारे में किसी को ठीक से जानकारी नहीं थी। चिकित्सकों को भी इस स्थिति का अंदाजा नहीं था। वहीं, सरकार की ओर से कोरोना से बचाव को लेकर गाइड लाइन भी जारी की गयी, लेकिन आम जनमानस ने इसका सही तरह से पालन नहीं कि, नतीजन दूसरी लहर भयावह साबित हुई। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया ने हमारे समाज में भय फैलाने का काम किया है, हमें सोशल मीडिया का उपयोग करते समय जागरूक और सतर्क रहने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अभिभावक स्वयं कोरोना गाइड लाइन का पालन करें और बच्चों को तनाव मुक्त वातावरण दें।

कार्यक्रम अध्यक्ष विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के पदाधिकारी डॉ. शैलेष मिश्रा ने कहा कि कोरोना काल में बच्चों की शिक्षा काफी प्रभावित हुई है, जिसको लेकर विकल्प भी तैयार किए जा रहे हैं, लेकिन इन पर ध्यान देने की भी आवश्यकता है।

कार्यक्रम का संचालन विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रचार प्रमुख सौरभ मिश्रा ने किया। इस कार्यक्रम में विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के बालिका शिक्षा प्रमुख उमाशंकर मिश्रा, सह प्रचार प्रमुख भास्कर दूबे सहित कई पदाधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।

Related posts

हिमाचल प्रदेश: राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने किया राज्य की विधानसभा को भंग

Breaking News

तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर कसा तंज कहा, ‘सरकार शिकारी है’

Ankit Tripathi

जम्मू-कश्मीर में लॉकडाउन के चलते भारतीय सेना कर रही आतंकियों का सफाया, 18 आतंकी ढेर

Rani Naqvi