September 25, 2022 7:54 pm
featured Sputnik News - Hindi-Russia दुनिया

कोरोना वायरस का कहर जारी, इटली में मरने वालों की संख्या 100 के पार, अमेरिका में 11 की मौत

कोरोना वायरस 1 कोरोना वायरस का कहर जारी, इटली में मरने वालों की संख्या 100 के पार, अमेरिका में 11 की मौत

यू,एस ब्यूरो। कोरोना वायरस से इटली में मरने वालों का आंकड़ा बुधवार को 100 के पार पहुंच गया और संक्रमण की चपेट में आने वाले व्यक्तियों की संख्या तीन हजार से ऊपर चली गई है। सरकार ने यह जानकारी दी। पिछले चौबीस घंटों में 28 और लोगों की जान चली गई जिससे मृतकों की संख्या 107 हो गई है। चीन के बाहर कोरोनावायरस से मरने वालों की यह सर्वाधिक संख्या है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार इटली में अब तक संक्रमण के 3,089 मामले दर्ज किए गए हैं।

 कोरोनावायरस: इटली में स्कूल, विश्वविद्यालय 15 मार्च तक के लिए बंद

इटली में कोरोनावायरस के कारण मरने वालों की संख्या 107 तक पहुंचने के साथ ही इस संक्रमण को फैलने के रोकने के लिए सभी स्कूलों और विश्वविद्यालयों को 15 मार्च तक बंद कर दिया गया। सरकार ने इस आदेश की बुधवार को घोषणा की। यहां कोरोना वायरस के मामले 3,000 के पार पहुंच चुके हैं।

अमेरिका में 11 लोगों की मौत, आपात स्थिति की घोषणा

अमेरिका में कोरोनावायरस से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है। कांग्रेस में सांसद तेजी से फैल रहे इस संक्रामक रोग से लड़ने के लिए आठ अरब डॉलर से अधिक की निधि देने पर राजी हो गए हैं। कैलिफोर्निया के गवर्नर गैविन न्यूसम ने आपात स्थिति की घोषणा की है। राज्य में कोविड-19 बीमारी से एक व्यक्ति की मौत हो गई है जबकि नजदीक के वाशिंगटन राज्य में स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि वहां 10वें व्यक्ति की मौत हो गई है।

इससे पहले लॉस एंजिलिस काउंटी के अधिकारियों ने वेस्ट कोस्ट शहर में छह नए मामले सामने आने की बात बताई जबकि न्यूयॉर्क राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है। इस बीच, सदन की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी ने कहा कि रिपब्लिकन और डेमोक्रेट्स कोरोनावायरस से लड़ने के लिए 8.3 अरब डॉलर की सहायता राशि देने पर सहमत हो गए हैं। प्रतिनिधि सभा ने इस संबंध में प्रस्ताव पारित कर दिया और सीनेट में इस पर गुरुवार को मतदान होना है।

दुनिया में 9 करोड़ फेस मास्क और 7.6 करोड़ ग्लव्स की जरूरत

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से पूरी दुनिया में फेस मास्क और अन्य सुरक्षा उपकरणों की आपूर्ति लगातार कम हो रही है और इससे स्वास्थ्यकर्मियों के लिए मुश्किलें बढ़ रही हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के डायरेक्टर जनरल टेड्रोस अडेहनॉम गेब्रीयेसस ने कहा है कि पीड़ितों की देखभाल करने वाले स्वास्थ्यकर्मियों के लिए 8.9 करोड़ मास्क, 16 लाख रंगीन चश्मा और 7.6 करोड़ जोड़े ग्लव्स की जरूरत है।

 

गेब्रीयेसस ने कहा है कि संक्त्रस्मण के कारण इन चीजों की मांग बढ़ रही है, लेकिन उत्पादन तेजी से कम हो रहा है। बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए उत्पादन में 40 प्रतिशत इजाफे की जरूरत है।

कीमतें भी कई गुना बढ़ीं

फेस मास्क और सुरक्षा उपकरणों की कम होती मांग के बीच इसकी जमाखोरी भी शुरू हो गई है। घबराए लोग इन चीजों को अपने घरों में जमा कर रहे हैं, जिससे इनकी कीमतें भी कई गुना बढ़ गई हैं। फेस मास्क की कीमत छह गुना तो गाउन की कीमत में दोगुनी वृद्धि हुई है। वहीं, एन95 मास्क की कीमतें भी तीन गुना तक बढ़ गई हैं।

आम लोगों से अपील

गेब्रीयेसस ने आम लोगों से फेस मास्क की जमाखोरी नहीं करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि अधिकांश लोगों के लिए मास्क की जरूरत नहीं होती। गेब्रीयेसस ने अलग-अलग देशों की सरकारों से भी सुरक्षा उपकरणों का उत्पादन बढ़ाने की अपील की है। इधर, अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स अजार ने कहा है कि केवल उनके देश में ही स्वास्थ्यकर्मियों के लिए 30 करोड़ मास्क की जरूरत होगी।

 फ्लू से ज्यादा खतरनाक, लेकिन कम संक्त्रसमक

कोरोनावायरस और फ्लू की तुलना करते हुए गेब्रीयेसस ने कहा कि कोविद-19 ज्यादा खतरनाक है, क्योंकि इसके शिकार हुए 3 प्रतिशत से ज्यादा लोगों की जान चली गई। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि फ्लू के मुकाबले कोरोना वायरस का संक्त्रस्मण धीरे फैलता है। इसी तरह, फ्लू की रोकथाम करना संभव नहीं है, लेकिन कोविद-19 पर रोक लगाने की कोशिशें की जा रही हैं।

Related posts

शहीद औरंगजेब के घर पहुंची रक्षा मंत्री सीतारमण

Breaking News

लखनऊ: सिविल अस्पताल के लिए डीएम ने बुलाई बैठक, जानिए क्या मामला

Shailendra Singh

उर्स का आगाज, तीन दिन तक मुफ्त में कर सकेंगे ताज का दीदार

rituraj