featured भारत खबर विशेष यूपी

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए लखनऊ तैयार, CMO ने बताई प्लानिंग

तैयारियों को लेकर सीएमओ डॉ. संजय भटनागर से भारतखबर.कॉम की विशेष बातचीत

लखनऊ: देश समेत प्रदेश में कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर तैयारियां युद्धस्तर पर जारी है। राजधानी में भी स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन कमर कसे हुए है। तीसरी लहर से पहले ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेशन कराने के लिए तमाम तरह के इंतजाम किए गए हैं।

जहां एक तरफ मेगा वैक्सीनेशन कैंप लगाकर रोजाना हजारों की संख्या में कोरोना का टीका लगाया जा रहा वहीं दूसरी ओर तीसरी लहर से निपटने के लिए बेड्स और वेंटिलेटर पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। किस तरह से इन चीज़ों पर काम हो रहा है इस बात की जानकारी खुद लखनऊ के सीएमओ डॉ. संजय भटनागर ने भारतखबर.कॉम से साझा किया है।

राजधानी में 800 पीडियाट्रिक बेड्स तैयार: सीएमओ

लखनऊ मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. संजय भटनागर का कहना है कि हम तीसरी लहर की तैयारियों में जुटे हुए हैं। इसी कड़ी में हमने 800 पीडियाट्रिक बेड्स तैयार किए हैं जिनमें 50 प्रतिशत वेंटिलेटर पर हैं। आठ अस्पतालों में इसकी व्यवस्था की गई है। इन आठ अस्पतालों के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि केजीएमयू, पीजीआई, राम मनोहर लोहिया, एरा मेडिकल कॉलेज, टीएस मिश्रा, बलरामपुर अस्पताल, लोक बंधू और प्रसाद मेडिकल कॉलेज में इन बेड्स की व्यवस्था की गई है।

इनके अलावा चार सीएचसी (चिनहट, मलीहाबाद, मोहनलाल गंज और गोसाईंगंज) में भी 50-50 बेड्स तैयार किए गए हैं जिनमें 5-5 बेड्स बच्चों के अरक्षित हैं। सीएमओ के मुताबिक, पीडियाट्रिक के ट्रेंड डॉक्टर्स के अलावा और भी डॉक्टर्स को ट्रेनिंग दी जा रही है जिसके हमारे पास अल्टरनेट आप्शन मौजूद हो।

बाहर से आने वाले व्यक्तियों पर रखी जा रही निगरानी

मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया है कि तीसरी लहर के मद्देनज़र बाहर से आने वाले व्यक्तियों पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन पर स्वास्थ्य विभाग की टीमें तैनात हैं। उन्होंने बताया, ‘थर्मल स्क्रीनिंग में जिनका टेम्प्रेचर मानकों के विपरीत है, उनकी आरटीपीसीआर जांच हो रही है और जिनमें कोई सिम्पटम्स नहीं हैं उनकी एंटीजन जांच कराई जा रही है। इसके बाद उन्हें 14 दिनों तक टेलीफोनिक सर्विलांस पर रखा जा रहा है।’ उन्होंने बताया है कि रोजाना लगभग 800 लोग बाहर से आ रहे हैं, उनका डाटा कलेक्ट करके 14 दिनों तक लगातार उनका हाल पूछा जाता है और उनपर नज़र रखी जाती है।

तैयारियों को लेकर सीएमओ डॉ. संजय भटनागर से भारतखबर.कॉम की विशेष बातचीत
डॉ. संजय भटनागर, मुख्य चिकित्साधिकारी, लखनऊ
वैक्सीनेशन की रफ़्तार भी बढ़ाई गई

डॉ. संजय भटनागर का कहना है कि तीसरी लहर के मद्देनज़र, टीकाकरण की रफ़्तार को भी गति दी जा रही। अब रोजाना लगभग 28 हज़ार लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। मेगा वैक्सेंशन कैंप के माध्यम से टीकाकरण की रफ़्तार को गति मिली है और हमारा लक्ष्य ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाने का है।

पोस्ट कोविड मरीजों को भी मुहैया कराई जा रही सुविधा

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. संजय भटनागर ने बताया है कि पोस्ट कोविड मरीजों के लिए भी व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया जा रहा है। उन्होंने बताया है कि पोस्ट कोविड मरीजों के लिए हेल्पलाइन (05224523023) और हेल्लो डॉक्टर (05223515700) जैसी सुविधा है जो 24 घंटे तत्पर है। उन्होंने बताया है कि हज हाउस में बना 255 बेड का हॉस्पिटल, पोस्ट कोविड मरीजों के लिए है।

इसके अलावा सिविल, बलरामपुर, लोक बंधू में भी पोस्ट कोविड मरीज़ देखे जा रहे हैं और उनका इलाज़ हो रहा है। डॉ। संजय भटनागर ने बताया है कि हेल्पलाइन पर रोजाना 70-80 फ़ोन आते हैं और उनकी समस्याओं का निस्तारण होता है।

खतरनाक हो सकती है तीसरी लहर: सीएमओ

वहीं सीएमओ ने बताया है कि एक्सपर्ट्स के आधार पर तीसरी लहर खतरनाक हो सकती है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इसके लक्षण गंभीर हो सकते हैं। केवल अंदाज़े के बल पर हम तैयारियों में लगे हुए हैं। उन्होंने बताया है कि अब पब्लिक का भी योगदान जरूरी है। पब्लिक में कोरोना को लेकर जागरूकता जरूरी है।

उन्होंने कहा है कि अगर कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया गया तो एक बार फिर इसका परिणाम खतरनाक होगा। उन्होंने साफ़ तौर पर कहा है कि वायरस कमज़ोर जरूर हुआ है पर खत्म नहीं। कुछ राज्यों में फिर से केसेस में बढ़ोतरी हो रही है। पब्लिक को समझने की जरूरत है। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना बहुत जरूरी है।

Related posts

IND vs ENG: 24 से पिंक बॉल टेस्ट, पीएम मोदी और गृहमंत्री को न्योता, गांगुली भी जा सकते हैं अहमदाबाद

Yashodhara Virodai

क्रेडिट पॉलिसी को लेकर RBI ने किया ऐलान, ब्याज दरों में नहीं हुआ कोई बदलाव

Aman Sharma

MSME को वैश्विक माहौल देंगे आईआईए के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक अग्रवाल, जानिए प्लान

sushil kumar