September 20, 2021 10:54 pm
featured देश

तीसरी लहर की आहट के बीच 5वीं वैक्सीन को मंजूरी, एक खुराक ही होगी कोरोना पर असरदार

मेगा वैक्सीनेशन दिवस: तीन अगस्त को 147 बूथों पर होगा कोविड टीकाकरण

भारत में कोरोना की सिंगल डोज़ वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है। अमेरिकी वैक्सीन निर्माता कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन की इस वैक्सीन की एक ही खुराक कोरोना के खिलाफ काफी है।

तीसरी लहर की आहट के बीच 5वीं वैक्सीन को मंजूरी

कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए केंद्र सरकार अब किसी तरह का रिस्क नहीं लेना चाहती। ऐसे में वैक्सीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। इसके लिए वैक्सीन की मात्रा भी बढ़ाई जा रही है। वहीं देश में कोरोना को हराने के लिए एक और वैक्सीन को मंजूरी दे दी गई है। अमेरिकी वैक्सीन निर्माता कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन की सिंग्ल डोज वैक्सीन को भारत में इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी गई है। इसके साथ ही अब भारत में 5 वैक्सीन उपयोग में लाई जाएंगी। जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन सिंगल डोज वैक्सीन है। मतलब इसकी एक खुराक ही लगाई जाएगी। देश में यह पहली वैक्सीन होगी जिसकी सिंगल डोज के इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है।

स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी

सिंगल खुराक वाली वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दिए जाने को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने ट्वीट कर जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट कर लिखा था “भारत ने अपनी वैक्सीन बास्केट का किया विस्तार! जॉनसन एंड जॉनसन की सिंगल डोज वाली कोविड वैक्सीन को भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दी गई है। अब भारत के पास 5 EUA टीके हैं। ये कोरोना के खिलाफ हमारे देश की लड़ाई को और तेज करेगा’।

जॉनसन एंड जॉनसन ने मांगी थी अनुमति

दरअसल 5 अगस्त को अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन ने अपनी वैक्सीन के आपात इस्तेमाल के लिए भारत सरकार से अनुमति मांगी थी। जिसके बाद अब इस वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की अनुमति मिल चुकी है। अब भारत में पाच कोरोना वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत मिल गई हैं। जिनमें कोविशील्ड, कोवैक्सीन, स्पूतनिक वी, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन शामिल है।

Related posts

वाराणसी: छात्र नेता से बदसलूकी व मोबाइल छीनने में हेड कांस्टेबल सस्पेंड

sushil kumar

UP: अब दुकान, मकान या जमीन खरीदने से पहले DM के यहां आवेदन जरूरी, जानिए नया नियम  

Shailendra Singh

कश्मीर में पैलेट गन की जगह जल्द ही इस्तेमाल होंगे मिर्ची गोले

shipra saxena