sanitisation लखनऊ : कोरोना हो रहा जानलेवा, बाजारों में सैनिटाइजेशन नहीं हुआ शुरू

लखनऊ। कोरोना के केस बढ़ने के बाद भी नगर निगम की तरफ से शहर के बाजारों में सैनिटाइजेशन का काम शुरू नहीं हुआ है। व्यापार मंडलों ने इसको लेकर नाराजगी जाहिर की है। जबकि सहालग के कारण बाजारों में लोगों की लगातार भीड़ बनी हुई है। उसके बाद भी नगर निगम की तरफ से सैनिटाइजेशन को लेकर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

इन बाजारों में रोजाना हो रही हजारों की भीड़

शहर में अमीनाबाद, भूतनाथ, आलमबाग, पत्रकापुरम, महानगर, चौक, नक्खास, यहियागंज, नादान महल रोड, तेलीबाग समेत कई जगहों पर हजारों लोगों का आना- जाना लगा रहता है।

शहर में साढ़े तीन सौ से ज्‍यादा हैं बाजार

लखनऊ में करीब एक लाख से ज्यादा छोटे-बड़े दुकानदार और 350 से ज्यादा बाजार हैं। इसमें से पांच फीसदी बाजरों में सैनिटाइजेशन का काम नहीं हो रहा है। लखनऊ व्यापार मंडल के वरिष्ठ महामंत्री अमरनाथ मिश्रा ने बताया कि इसको लेकर नगर निगम और जिला प्रशासन से बात की गई थी। लेकिन उसके बाद भी सुनवाई नहीं हुई। बताया कि कोरोना काल में सबसे ज्यादा सहयोग कारोबारियों ने किया था। ऐसे में उनकी सुरक्षा सबसे जरूरी है। बाजारों में कारोबारियों के साथ खरीददार भी आते है। लखनऊ के बाजारों में प्रतिदिन करीब सात लाख से ज्यादा की आबादी आती है। ऐसे में सबसे ज्यादा ध्यान वहां देने की जरूरत है।

इस बार सैनिटाइजेशन नहीं हुआ

भूतनाथ व्यापार मंडल के अध्यक्ष देवेन्द्र गुप्ता बताते है कि उनके यहां छोटी बड़ी करीब दो हजार दुकानें है। पिछले साल बाजारों में नियमित सैनिटाइजेश होता था। लेकिन इस बार मामले बढ़ने के बाद भी कोई नहीं आ रहा है। इससे ग्राहक के साथ कारोबारियों को सुरक्षा को खतरा है। इस दौरान नगर निगम और जिला प्रशासन की ओर से बरती गई लापरवाही मामलों को बढ़ावा दे सकती है।

कई कारोबारी परिवार सहित हुए संक्रमित

मौजूदा समय कोरोना से कई व्यापारी प्रभावित हो रही है। उनका घर तो सैनिटाइज हो जाता है। लेकिन बाजारों में ध्यान नहीं दिया जा रहा है। लखनऊ व्यापार मंडल के महामंत्री पवन मनोचा और उनका परिवार कोरोना से संक्रमित है। पवन नाका व्यापार मंडल के अध्यक्ष भी है। लेकिन अभी तक टीम नाका नहीं पहुंची है।

जल्‍द शुरू होगा सैनिटाइजेशन

जरूरत के हिसाब से हर जगह सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है। बाजारों में भी टीम भेजने की प्लानिंग है। जल्द ही वहां पर नियमित सैनिटाइजेशन कराया जाएगा।

सुनील रावत, नगर स्वास्थ्य अधिकारी,  नगर निगम, लखनऊ।

केजीएमयू कुलपति समेत 39 चिकित्सक कोरोना संक्रमित, ओपीडी में भी बदलाव

Previous article

कोरोना के बढ़ते कहर पर मायावती चिंतित, कहा- कोरोना को गंभीरता से ले सरकार

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.