कोरोना
कोरोना

मुंबई: जानकारों और वैज्ञानिकों का मानना है कि, देश में कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत हो गई है। देश में गुरुवार को करीब पांच महीने बाद 50 हजार से ज्यादा केस दर्ज किए गए थे। इससे पहले पिछले साल सितंबर 2020 में 53 हजार कोरोना के मामले सामने आए थे। लेकिन इन सबमें सबसे ज्यादा हालात खराब महाराष्ट्र के हैं। महाराष्ट्र में एक दिन में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा 35 हजार 952 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 111 लोगों की कोरोना से मौत हुई है।

मुंबई फूटा कोरोना का ‘बम”

केवल मुंबई में ही पिछले 24 घंटे में 5 हजार 504 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। मुंबई में ऐसा पहली बार हुआ है जब 55 सौ से अधिक कोरोना के केस सामने आए हैं। इसी तरह नागपुर, अमरावती, पुणे, नांदेड़ में भी कोरोना बेकाबू हो गया है। उद्धव सरकार ने बढ़ते कोरोना के चलते नांदेड़ में 4 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ा दिया है।

महाराष्ट्र के आंकड़े-

24 मार्च- 31,855 नए केस
23 मार्च- 28,699 नए केस
22 मार्च- 24,645 नए केस
21 मार्च- 30,535 नए केस

संक्रमितों की संख्या 26 लाख के पार

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र अब तक 26 लाख 83 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। जिनमें से 53 हजार 795 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि अब तक 22 लाख 83 हजार 37 लोग कोरोना को मात दे चुके हैं।

74 प्रतिशत मामले तीन राज्यों के

देश में कोरोना के जितने भी मामले उनमें से 74 प्रतिशत से ज्यादा मामले सिर्फ तीन राज्यों से सामने आए हैं। इनमें से पंजाब, महाराष्ट्र, और केरल सबसे ज्यादा कोरोना से प्रभावित राज्य हैं। इस बात की पुष्टि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय भी कर चुका है। केरल की बता करें तो राज्य में 11 लाख से ज्यादा संक्रमितों की संख्या है। जबकि 10 लाख से ज्यादा लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं। तो वहीं 4 हजार 527 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अकेले महाराष्ट्र में ही देश के 62 प्रतिशत से ज्यादा मामले हैं।

अगर ज्यादा खाते हो पपीते तो हो जाओ सावधान, हो सकती है ये परेशानी?

Previous article

समंदर किनारे हिना खान का हॉट अंदाज, बिकनी में शेयर की फोटो

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured