विहिप की बैठक में उठेगा धर्मांतरण का मुद्दा
विहिप की बैठक में उठेगा धर्मांतरण का मुद्दा

दिल्ली। विश्व हिंदू परिषद की प्रन्यासी मंडल की बैठक में इस बार धर्मांतरण के विरुद्ध केंद्रीय कानून बनाने को लेकर चर्चा होगी। इसके अलावा मठ मंदिरों को सरकारी नियंत्रण से मुक्ति एवं बंगाल में हुई हिंसा तथा कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर संगठन की तैयारी ऐसे महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की जाएगी।

विश्व हिंदू परिषद की केन्द्रीय प्रबंध समिति व प्रन्यासी मण्डल की दो दिवसीय बैठक शनिवार से हरियाणा के फरीदाबाद में प्रारंभ हो रही है। देश भर के लगभग 275 विहिप पदाधिकारियों के बैठक में भाग लेने की संभावना है। संगठन के भारत के बाहर की शाखाओं के प्रतिनिधि भी इस बैठक में भाग लेंगे। बैठक की कार्यसूची पर प्रकाश डालते हुए विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने बताया कि इस बैठक में कार्य की समीक्षा तथा संगठन विस्तार के विषय में व्यापक चर्चा होगी।

बैठक में विश्व हिन्दू परिषद के अध्यक्ष पूर्व न्यायाधीश विष्णु सदाशिव कोकजे, कार्याध्यक्ष सीनियर एडवोकेट आलोक कुमार व कार्याध्यक्ष (विदेश) अशोक राव चौगुले, उपाध्यक्ष गंगराजू, ओम प्रकाश सिंहल, डॉ आर एन सिंह व हुक्म चंद सांवला तथा कोषाध्यक्ष रमेश गुप्ता सहित सभी केन्द्रीय व क्षेत्रीय पदाधिकारी कोविड नियमों का पालन करते हुए हरियाणा के फरीदाबाद सेक्टर 43 स्थित मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में व्यक्तिगत रूप से उपस्थित रह सकेंगे तथा देश-विदेश के शेष पदाधिकारी ऑनलाइन माध्यम से जुड़ेंगे। यह बैठक हर छः मास में बुलाई जाती है।

रानीखेत: हरेला पर्व के अवसर पर किया गया पौधारोपण, लगाए जा रहे 4.70 लाख पौधे

Previous article

लखनऊ: प्रियंका गांधी के कार्यक्रम में जमकर उमड़ी भीड़, कार्यकर्ताओं ने गांधी प्रतिमा की दीवार गिराई

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured