December 3, 2021 12:13 am
featured देश

Constitution Day 2021: विशेष कार्यक्रमों का आयोजन आज, पीएम मोदी लेंगे हिस्सा, विपक्षी दलों ने किया बहिष्कार

modi modi 7140704 835x547 m Constitution Day 2021: विशेष कार्यक्रमों का आयोजन आज, पीएम मोदी लेंगे हिस्सा, विपक्षी दलों ने किया बहिष्कार

Constitution Day 2021 || 26 नवंबर यानी संविधान दिवस के मौके पर आज संसद और विज्ञान भवन में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल होंगे। संसद के सेंट्रल हॉल में इस कार्यक्रम का आयोजन आज सुबह 11:00 बजे होगा। इसके बाद 5:30 बजे विज्ञान भवन के प्लेनरी हॉल में भी कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। 

पीएम मोदी का ट्वीट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए ट्वीट में लिखा है कि “कल 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाएगा। यह उन महान लोगों के असाधारण प्रयासों को याद करने का दिन है जिन्होंने हमारा संविधान बनाया। मैं कल 2 कार्यक्रमों में भाग लूंगा। पहला सेंट्रल हॉल में सुबह 11 बजे और दूसरा शाम 5:30 बजे विज्ञान भवन में।

कार्यक्रम में नहीं शामिल होंगी कांग्रेस सहित विपक्षी नेता

जानकारी के मुताबिक संसद के सेंट्रल हॉल में आयोजित कार्यक्रम में कांग्रेस दल सांसद भी शामिल नहीं होंगे। वही आम आदमी पार्टी ने भी कार्यक्रम में शामिल होने से इनकार कर दिया है। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि “BJP एक तरफ़ तो संविधान की धज्जियाँ उड़ा रही है।

किसानो नौजवानों के अधिकारों को ग़ैरसंवैधानिक तरीक़े से कुचल रही है और “संविधान दिवस” मनाने की नौटंकी कर रही है। आम आदमी पार्टी इस नौटंकी का हिस्सा नही बनेगी।

कार्यक्रम को संबोधित करेंगे ये वरिष्ठ अधिकारी

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से साझा की गई जानकारी के मुताबिक संसद भवन में आयोजित कार्यक्रम की शुरुआत 11:00 बजे से होगी। जिसमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला कार्यक्रम को संबोधित करेंगे।

सभी वरिष्ठ अधिकारियों के संबोधन के पश्चात संविधान की प्रस्तावना का पाठ किया जाएगा। 

पीएम मोदी ने साझा किए डॉ भीमराव अंबेडकर के भाषण के कुछ अंश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह देशवासियों को संविधान दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि “इस विशेष दिन पर, डॉ. अम्बेडकर के भाषण का एक अंश साझा कर रहा हूँ।

4 नवंबर 1948 को संविधान सभा में जिसमें उन्होंने मसौदा समिति द्वारा तय किए गए प्रारूप संविधान को अपनाने के लिए एक प्रस्ताव पेश किया।

डॉ राजेंद्र प्रसाद को पीएम मोदी ने किया याद 

पीएम मोदी ने देश के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद को याद करते हुए कहा कि “कोई भी संविधान चाहे वह कितना ही सुंदर, सुव्यवस्थित और सुदृढ़ क्यों न बनाया गया हो, यदि उसे चलाने वाले देश के सच्चे, निस्पृह, निस्वार्थ सेवक न हों तो संविधान कुछ नहीं कर सकता। डॉ. राजेंद्र प्रसाद की यह भावना पथ-प्रदर्शक की तरह है।”

Related posts

शिवसेना ने ईवीएम को लेकर बीजेपी पर बोला हमला, ईवीएम जो चाहेगी वहीं होगा

Breaking News

43 की उम्र में मां बनी फराह खान ने महिलाओं के लिखा ओपन लेटर, जानें क्या है पूरा मामला

Trinath Mishra

श्रीलंका हमले में अब तक 150 से अधिक की मौतें, भारतीय उच्चायोग ने जारी की हेल्पलाइन

bharatkhabar