September 17, 2021 2:42 pm
featured यूपी

लखनऊ: प्रेस कांफ्रेस कर कांग्रेस ने यूपी सरकार पर बोला हमला, कहा महंगाई, बेरोजगारी चरम पर…

लखनऊ: प्रेस कांफ्रेस कर कांग्रेस ने यूपी सरकार पर बोला हमला, कहा महंगाई, बेरोजगारी चरम पर...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष स्वप्निल शर्मा ने प्रेस कांफ्रेस कर कहा  मुझ पर भरोसा जताने के लिए और एक अहम पद की जिम्मेदारी सौंपने के लिए  अपनी पार्टी अध्यक्षा  सोनिया गांधी , अपने नेता राहुल गांधी, प्रियंका दीदी को यह विश्वास दिलाना चाहूंगी कि मैं अपनी पूरी निष्ठा के साथ इस जिम्मेदारी को पूर्ण करने की कोशिश करूंगी। मैं इस पद का सम्मान रखते हुए कार्य करूंगी। इसके साथ ही यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय लल्लू का भी आभार व्यक्त किया।

देश की आधाी आबादी महिलाओं की

जैसा कि हम सब जानते हैं की महिलाएं देश की आधी आबादी है। किसी भी देश की तरक्की तब तक सुनिश्चित नहीं की जा सकती जब तक उनकी यह आधी आबादी पूर्ण रुप से सहयोग ना करें, फिर चाहे वो शिक्षा का क्षेत्र हो, राजनीति का क्षेत्र हो, खेलकूद का क्षेत्र हो, या फिर बाहर जाकर किसी ऑफिस को संभालना हो।

महिलाओं का संगठन तैयार करूंगी-स्वप्निल

आज महिलाएं हर जगह कदम से कदम मिलाकर चल रही है और खुद को बेहतर तरीके से साबित कर रही है। पर फिर भी इन आंकड़ों का कहीं ना कहीं प्रतिशत कम है। महिला प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते मैं मजबूत महिलाओं का संगठन तैयार करना चाहूंगी जिससे हमारी पार्टी को मजबूती मिले।

यूपी में महिला सुरक्षा मुख्य मुद्दा

आज हम सबको भली प्रकार ज्ञात है कि आज महिला सुरक्षा सबसे बड़ा मुद्दा बना हुआ है उत्तर प्रदेश में। आए दिन आप को बलात्कार जैसी शर्मनाक और दर्दनाक हादसे सुनने को मिल रहे हैं। प्रदेश महिला संगठन कि हर महिला का पहला मुद्दा महिला सुरक्षा होगा और जब तक उत्तर प्रदेश में महिला खुद को सुरक्षित महसूस नहीं करती है तब तक हमारी आवाज यूं ही बुलंद रहेगी। उस हर बेटी, हर बहन के साथ, मेरी महिला संगठन पूरी मजबूती के साथ उसकी लड़ाई लड़ेगी।

दूसरा मुद्दा महंगाई

हमारा दूसरा सबसे बड़ा मुद्दा महंगाई होगा, क्योंकि इसका सीधा असर परिवार की महिला पर पड़ता है। एक परिवार की हर जरूरत को सुनिश्चित करना किसी भी महिला पर होता है, पर इस बढ़ती महंगाई की वजह से महिला को सबसे ज्यादा जद्दोजहद करनी पड़ रही है।

तीसरा मुद्दा बेरोजगारी है

कोई बतायें इन सोई सरकारों को जगाएं कैसे, इस बेरोजगारी के दानव से खुद को बचाएं कैसे।
बता दें कि देश में रोजगार से जुड़ी नेशनल सैम्पल सर्वे ऑफिस (एनएसएसओ) की रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2017-18 में बेरोजगारी दर 45 साल में सबसे ज्यादा 6.1% के स्तर पर पहुंच गई थी। फरवरी महीने में बेरोजगारी दर अपने उच्चतम स्तर पर दर्ज की गई. फरवरी में देश में बेरोजगारी की दर 6.9 फीसदी रही।

लाखों के रोजगार से नहीं चलेगा काम

130 करोड़ से ज्यादा की आबादी वाले हिन्दुस्तान में सिर्फ हजारों और लाखों के रोजगार से काम नहीं चलेगा, क्योंकि देश में हर साल एक करोड़ बेरोजगार जनता की कतार होती है। समस्या बड़ी है, इसलिए सरकार को समाधान भी बड़ा निकालना ही होगा। आज उत्तर प्रदेश में ऐसी कई गंभीर समस्याएं सर उठा कर खड़ी है और हमारी सरकार सो रही है। करोना जैसे महामारी में योगी जी परिस्थितियां संभालने में जहां बुरी तरह विफल रहे वही इस बात को ढकते हुए पाए गए, जो कि निंदनीय है।

हम गलत नीतियों के खिलाफ हल्ला बोलेंगे

आप सब इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि किस तरह सरकार ना सिर्फ हास्यास्पद और साथ ही तकलीफदेह बयान देती है की ऑक्सीजन की कमी से किसी भी व्यक्ति की मृत्यु नहीं हुई, जबकि सारे तथ्य आंखों के सामने हैं। इस सरकार के खिलाफ इनकी हर गलत नीतियों पे हम यूं ही हल्ला बोलते रहेंगे।

Related posts

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को मानद उपाधि से अलंकृत किया

Rani Naqvi

अलकादा के निशाने पर पीएम मोदी समेत देश के 22 नेता, 3 आतंकी गिरफ्तार

shipra saxena

डॉक्टर के कहने पर ही ‘एंटीबायोटिक’ लें : मोदी

bharatkhabar