राजस्थान चुनाव: जमीनी पकड़ के लिए कांग्रेस का बूथ अभियान

राजस्थान चुनाव: जमीनी पकड़ के लिए कांग्रेस का बूथ अभियान

नई दिल्ली। राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। राजस्थान की सत्ता को कांग्रेस पूरी तरह से बीजपी से छीनने में जुट गई है। इसके लिए एक तरफ कांग्रेस वसुंधरा सरकार को घेरने में लगी है, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस बूथ स्तर पर अपने संगठन को मजबूत करने में लगी है। बूथ स्तर पर कांग्रेस अपनी मजबूती को सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश में इन दिनों ‘मेरा बूथ, मेरा गौरव’ नाम से एक अभियान चला रही है।

 

 

माइक्रो मैनेजमेंट की तरफ कदम

जिसमें बूथ वर्कर्स को तैयार और प्रेरित किया जा रहा है। राजस्थान में कांग्रेस संभाग के अनुसार अभियान चला रही है। प्रदेश में कुल सात संभाग हैं, जिनमें से एक-एक कर सभी संभागों को कवर किया जाएगा। बताया जाता है कि अगले एक महीने के भीतर यह अभियान पूरा कर लिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में तकरीबन 48000 बूथ हैं। राजस्थान में कांग्रेस ने बीजेपी के तर्ज पर बूथ स्तर पर माइक्रो मैनेजमेंट की तरफ कदम बढ़ाया है।

राजस्थान चुनाव में नीतीश कुमार की दिलचस्पी,बांसवाड़ा में करेंगे सभा

बूथ जीतो, देश जीतो

पीएम नरेंद्र मोदी ने जमीनी पकड़ की मजबूती के लिए बूथ स्तर पर प्रबंधन की रणनीति तैयार की थी। मोदी का नारा था- बूथ जीतो, देश जीतो। पिछले आम चुनाव के बाद अपनी लगातार होती हार के बाद कांग्रेस भी बूथ स्तर पर प्रबंधन पर खासा जोर देने लगी है।

राजस्थान: सचिन ने पानी के लिए फोड़ा मटका,वसुंधरा ने खोला प्याऊ

पार्टी के सीनियर नेता का कहना था कि अभियान को ‘मेरा बूथ, मेरा गौरव’ नाम देने के पीछे कहीं न कहीं मकसद था कि अपने बूथ से बूथ वर्कर्स खुद को जोड़ सके। उसके साथ अपनी पहचान पुख्ता कर सके। बता दे कि संभाग में एक या दो दिन का सम्मेलन किया जा रहा है, जिसमें पार्टी के बड़े नेता बूथ वर्कर्स के साथ संवाद कार्यक्रम चला रहे हैं। इस कार्यक्रम में बीजेपी की कमियों को उजागर किया जा रहा है।