सुरक्षा हटाने पर भड़के कांग्रेस नेता अजय राय, यूपी सरकार पर लगाया गंभीर आरोप

वाराणसी: यूपी के वाराणसी में कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक अजय राय ने प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाया है। उन्‍होंने आरोप लगाते हुए कहा कि, ‘प्रदेश सरकार मेरी हत्या कराना चाहती है।’

एक बार ही विधायक बनने वाले को मिली सुरक्षा

वाराणसी में बुधवार को पूर्व विधायक अजय राय ने सरकार द्वारा सुरक्षा हटाने के संबंध में एक प्रेस वार्ता की। इस दौरान मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि, ‘कितने दुख और हैरत की बात है कि आज जहां एक बार विधायक बन जाने पर सरकार द्वारा लोगों को हर तरह की सुरक्षा मिल जाती है तो वहीं मैं पिंडरा विधानसभा से लगातार पांच बार विधायक रहा व पूर्व मंत्री भी रह चुका हूं, फिर भी मेरी सुरक्षा हटा ली गई, जो दुर्भाग्‍यपूर्ण है।

पूर्व विधायक ने कहा कि, मेरे बड़े भाई स्‍व. अवधेश राय की हत्‍या का मामला इलाहाबाद हाईकोर्ट में चल रहा है। मैं उसका चश्‍मदीद गवाह हूं और मेरी गवाही कुख्‍यात अपराधी मुख्‍तार अंसारी के खिलाफ है। ऐसे में सरकार द्वारा मेरी सुरक्षा हटाना बेहद अफसोसजनक और दुर्भाग्यपूर्ण है।

अजय राय बोले- मैं गलत के खिलाफ आवाज उठाता रहूंगा

अजय राय ने कहा कि, यह सरकार मेरी आवाज दबाना चाहती है, जिससे मैं गलत का विरोध करना बंद कर दूं। जनता की लड़ाई न लडूं। सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ उठने वाली मेरी आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है। लेकिन, मैं डरने वाला नहीं हूं। मैं गलत के खिलाफ आवाज उठाता रहूंगा।

कांग्रेस नेता ने कहा कि, मैंने पिछले दिनों सुरक्षा को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र भी लिखा था, जिसमें अपनी सुरक्षा को बारे चिंता जाहिर की थी। लेकिन, हैरत की बात है कि उस पत्र को लेकर मुख्यमंत्री द्वारा कोई उचित कार्यवाही नहीं की गई बल्कि उसके उलट जो मेरी सुरक्षा थी, उसे भी हटा लिया गया, जोकि बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्‍होंने कहा कि, मेरी सुरक्षा को लेकर प्रदेश सरकार द्वारा अपनाया जा रहा रवैया अलोकतांत्रिक है, सरकार मेरी हत्‍या करवाना चाहती है।

कांग्रेस नेता की सुरक्षा बहाल करने की मांग  

पूर्व विधायक अजय राय ने मांग करते हुए कहा कि, मेरी सुरक्षा को जल्‍द से जल्‍द बहाल किया जाए और मुझे मुख्‍तार अंसारी के खिलाफ गवाही देने के मामले में अतिरिक्‍त सुरक्षा मुहैया कराई जाए। इस दौरान उन्‍होंने कहा कि, मैं इस सरकार को आगाह करना चाहता हूं कि अगर भविष्य में मेरे साथ कोई घटना घटित होती है तो उसकी जिम्मेदार प्रदेश सरकार होगी।

पीसीएस-2020 के लिए शुरु होने जा रहा इंटरव्यू, जारी हुआ एडमिट कार्ड

Previous article

बाबा विश्वनाथ की ‘गौना बारात’ में उमड़ा जनसमूह, उड़ते रंगों से माहौल हुआ होलीमय

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured