September 26, 2022 9:01 am
featured Breaking News देश

मोदी सरकार ने सच से आजादी का मनाया जश्न , लोगों को दी गलत जानकारी

jairam मोदी सरकार ने सच से आजादी का मनाया जश्न , लोगों को दी गलत जानकारी

नई दिल्ली। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वतंत्रता दिवस संबोधन को लेकर मंगलवार को उनकी निंदा की। कांग्रेस ने कहा कि उन्होंने अपनी सरकार की सच से आजादी का जश्न मनाया और अपनी उपलब्धियां गिनाने में झूठ बोला और गलत तथ्य पेश किए।

jairam

कांग्रेस नेता और राज्यसभा सदस्य जयराम रमेश ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि, मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के अपने सबसे लंबे 9,367 शब्दों के भाषण में दाल, सौर ऊर्जा और आतंकवाद के बारे में बातें की, लेकिन उन्होंने काले धन के बारे में एक शब्द भी नहीं बोला, जिसका उन्होंने पिछले वर्ष स्वतंत्रता दिवस के भाषण में नौ बार जिक्र किया था। उन्होंने रिफॉर्म से ट्रास्फॉर्म के बारे में बात की, लेकिन इस बात का जिक्र नहीं किया कि उनकी सरकार लोगों को कितनी गलत जानकारी दे रही है।

जयराम रमेश ने मोदी सरकार पर लगाए आरोप:-

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सरकार न केवल लोगों को गलत जानकारी दे रही है बल्कि सच से आजादी का भी जश्न मना रही है।

– कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी ने देश का स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाते हुए अपनी सरकार की सच से आजादी का जश्न भी मना लिया।

– उन्होंने कहा कि भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) की एक रपट ने एलपीजी सब्सिडी के दावों पर मोदी सरकार के झूठ और फरेब को अंतत: बेनकाब कर दिया है। लेकिन मोदी सरकार के झूठ और गलतबयानी की अनवरत धारा का यह मात्र एक उदाहरण है।

– इसके साथ ही रमेश ने कहा कि मुख्य आर्थिक सलाहकार से लेकर वित्तमंत्री और प्रधानमंत्री तक सरकार के हर किसी ने सार्वजनिक रूप से दावा किया है कि सरकार ने एलपीजी के लिए प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटीएल) योजना पेश कर एलपीजी सब्सिडी की भारी राशि बचा ली है। इस योजना को पहल भी कहते हैं।

– आगे कहा कि, पिछले सप्ताह (12 अगस्त) सौंपी गई सीएजी की रपट में कहा गया है कि सरकार की पहल योजना के कारण एलपीजी सब्सिडी में बचत मात्र 1,764 करोड़ रुपये थी, न कि 10,000 करोड़, जिसका कि मोदी सरकार दावा कर रही है। वास्तव में सीएजी रपट में कहा गया है कि सरकार ने सरासर झूठ बोला है।

Related posts

ICC भारत से छीनी जा सकती है 2023 वर्ल्ड कप की मेजबानी

Ankit Tripathi

फतेहपुर प्रशासन तीसरी लहर से कर रहा आगाह, दुकानदार बने हैं लापरवाह

Shailendra Singh

दिल्ली-NCR में भूकंप के हल्के झटके

rituraj