September 25, 2022 12:14 am
featured मनोरंजन

BMC ने सोनू सूद के खिलाफ की शिकायत, जानें क्या है पूरा मामला

sonu sood BMC ने सोनू सूद के खिलाफ की शिकायत, जानें क्या है पूरा मामला

सोनू सूद जिन्हें गरीबों के मसीहा का नाम दे दिया गया है. उनके खिलाफ बीएमसी ने शिकायत दर्ज करवाई है. बीएमसी ने अभिनेता सोनू सूद के खिलाफ जुहू में छह मंजिला आवासीय इमारत को बिना जरूरी अनुमति के होटल में बदलने के आरोप में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. बीएमसी ने जुहू पुलिस से कहा है कि वो सूद द्वारा महाराष्ट्र रीजन एंड टाउन प्लानिंग (एमआरटीपी) एक्ट के तहत किए गए अपराध का संज्ञान लें.

इमारत को बिना जरूरी अनुमति के होटल में बदलने का आरोप
सूद ने हालांकि ये बात रखी है कि उनके पास उपयोगकर्ता बदलने के लिए बीएमसी की अनुमति थी और वो केवल महाराष्ट्र तटीय क्षेत्र प्रबंधन प्राधिकरण (MCZMA) से मंजूरी की प्रतीक्षा कर रहे थे. बीएमसी ने 4 जनवरी को जुहू पुलिस को दी अपनी शिकायत में बताया कि सोनू सूद ने जुहू के एबी नायर रोड पर स्थित शक्ति सागर बिल्डिंग को एक आवासीय इमारत में बदल दिया है, जो प्रति मिशन यूजर बदले बिना एक होटल में है.

ये पाया गया है कि सोनू सूद ने भूमि के उपयोगकर्ता को स्थापित किया है या भूमि के उपयोगकर्ता को बदल दिया है. बीएमसी की शिकायत में कहा गया है कि सक्षम प्राधिकरण से तकनीकी मंजूरी लिए बिना अनुमोदित योजना और आवासीय से आवासीय होटल भवन तक उपयोगकर्ता के अनधिकृत परिवर्तन से परे अनधिकृत अतिरिक्त/परिवर्तन. बीएमसी ने अपनी शिकायत में कहा कि ये पाया गया कि आरोपी ने नोटिस का पालन नहीं किया था और उस पर नोटिस परोसे जाने के बाद भी अनधिकृत विकास को अंजाम देना जारी था.

अधिकारियों ने बताया कि सूद ने पिछले साल अक्टूबर में बीएमसी द्वारा भेजे गए नोटिस के खिलाफ सिटी सिविल कोर्ट में पेश किया था लेकिन उसे कोई अंतरिम राहत नहीं मिली. अदालत ने उन्हें उच्च न्यायालय में अपील करने के लिए तीन सप्ताह का समय दिया था. एक वरिष्ठ नागरिक अधिकारी ने कहा कि चूंकि तीन सप्ताह बीत गए और उन्होंने अनुमोदित योजना के अनुसार परिवर्तन और परिवर्धन को बहाल नहीं किया था, हमने एमआरटीपी अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पुलिस शिकायत दर्ज की है.

सोनू सूद ने दिया बयान
सूद ने कहा कि मैंने बीएमसी से यूजर बदलने के लिए मंजूरी ले ली है. ये महाराष्ट्र तटीय क्षेत्र प्रबंधन प्राधिकरण के अनुमोदन के अधीन था. ये अनुमति Covid-19 के कारण नहीं आया है. इसमें कोई अनियमितता नहीं है. मैं हमेशा कानून का पालन करता हूं. इस होटल में महामारी के दौरान कोविड-19 योद्धाओं के घर का इस्तेमाल किया गया था. अगर अनुमतियां नहीं आती हैं, तो मैं इसे आवासीय संरचना में वापस बहाल कर दूंगा. मैं बॉम्बे HC में बीएमसी की शिकायत के खिलाफ अपील कर रहा हूं.

Related posts

फिरोजाबाद: सेवा उत्सव कार्यक्रम में पहुंचे अमित शाह, बीजेपी का पूरे देश में परचम लहरा रहा

Breaking News

नेपाल के पीएम ओली का भारत के प्रति नरम रुख, रक्षा मंत्री ईश्वर पोखरेल को हटाया

Samar Khan

भारतीय टीम के दुश्मन बने दो दोस्त, पहली बार टेस्ट मैच एक साथ खेल रहे हैं

mahesh yadav