Mahaparv Holi Celebration 2021: सीएम योगी ने प्रदेश की जनता को दी होली पर बधाई, कहा- कोरोना को लेकर बरतें सावधानी

गोरखपुर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर की दशा और दिशा सुधारने का लगातार प्रयास कर रहे हैं। इसी कड़ी में सीएम योगी ने गोरखपुर के लिए एक बार फिर से खजाना खोला है।

उत्तरी छोर को किया जाएगा विकसित

सीएम योगी रामगढ़ताल को और भी सुंदर बनाने में लग गए हैं। इस बार रामगढ़ताल के पश्चिमी और दक्षिणा किनारे के साथ साथ उत्तरी किनारे को भी विकसित करनी की योजना बनाई गई है। यहां पर नालों की टैपिंग करके गांदे पानी के प्रवाह को रोका जाएगा।

सीएम योगी ने खोला खजाना, और निखरेगी रामगढ़ ताल की रंगत

इसके साथ ही लगभग ढाई किलोमीटर की लंबाई में तीन मीटर चौड़ा बांध भी बनाया जाएगा। इसी के साथ रामगढ़ताल गोरखपुर वासियों के लिए सैर सपाटे के लिए एक अच्छा विकल्प बन जाएगा।

पौधरोपण से सुंदर हो जाएगा नजारा

गौरतलब है कि सीएम योगी ने 28 मार्च को केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी के साथ रामगढ़ताल के करीब बन रहे निर्माणाधीन सीवरेज का निरीक्षण किया था। इसके साथ ही उन्होंने रामगढ़ताल का अवलोकन भी किया था।

इसके बाद सीएम योगी राजधानी लखनऊ लौट आए और यहां से उन्होंने रामगढ़ताल के उत्तरी छोर और मोहद्दीपुर तक सीवर और एक बांध के निर्माण के लिए धनराशि अवमुक्त कर दी।

मुख्यमंत्री योगी ने इस सारे निर्माण के लिए करीब 34 करोड़ 19 लाख 80 हजार रुपए की धनराशि स्वीकृत की है। रामगढ़ताल को और निखारने के लिए इसके किनारे पर पौधरोपण किया जाएगा वहीं लोगों के बैठने और नजारा देखने के लिए बेंच भी लगाई जाएगी।

पूरे शहर में बिछाया जाएगा सीवर का जाल

इसके अलावा पूरे शहर में सीवर लाइन बिछाने की भी योजना सरकार ने बनाई है। दरअसल गोरखपुर का विस्तार नब्बे के दशक से ही होने लगा था। लेकिन बुनियादी सुविधाओं के नाम पर किसी भी सरकार ने गोरखपुर वासियों की सुध नहीं ली।

इसके अतिरिक्त किसी भी सरकार ने यहां के निवासियों के लिए मूलभूत सुविधाओं के बारे में भी नहीं सोचा। यहां तक की सीवर जैसी मूलभूत सुविधा पर भी ध्यान नहीं दिया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसे ही सीएम बने उन्होंने गोरखपुर की कमान अपने हाथ में ले ली और नया गोरखपुर बनाने में लग गए।

जोनवार किया जा रहा काम

अब अमृत योजना के तहत शहर के पूर्वी किनारे पर सीवर को बिछाने का काम किया जा रहा है।  ये काम दो जोन में बांटकर किया जा रहा है। सीवर बिछाने का काम 2018 को शुरू किया गया था जो दिसंबर 2021 तक पूरा हो जाएगा। फिलहाल सीवर बिछाने का काम करीब 70 प्रतिशत तक पूरा हो चुका है।

पुलिस को मिली सफलता, नकली दवाइयों का जखीरा किया बरामद, 3 गिरफ्तार

Previous article

विश्व में सबसे तेजी से रोड बनाने में भारत पहले स्थान पर- नितिन गडकरी

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured