September 18, 2021 9:35 am
Breaking News यूपी

सीएम योगी ने कोरोना में दिवंगत पत्रकारों के परिवार को सौंपे चेक

अब उत्तर प्रदेश में 217 जगहों पर मिलेगा Free Wi-Fi, योगी कैबिनेट ने लगाई मुहर

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 संक्रमण के कारण दिवंगत पत्रकारों के आश्रितों को ₹10-10 लाख की सहायता राशि शनिवार को प्रदान की। कार्यक्रम मुख्य अतिथि के तौर पर एनबीए के चेयरमैन रजत शर्मा भी मौजूद रहे। यह कार्यक्रम लोक भवन में आयोजित किया गया था।

इस दौरान रजत शर्मा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा मीडिया जगत इस सहायता के लिए धन्यवाद और आभार प्रकट करता है। वहीं पत्रकारों की वैक्सीनेशन प्रक्रिया को यूपी में लागू करने के लिए भी सीएम का धन्यवाद।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे कार्यक्रम में कहा कि मीडिया जगत ने मुश्किल समय में राह दिखाई है। जब आम जनमानस में भय व्याप्त था, तब मीडिया ने मुश्किल समय में भी समाज को दिशा दी। लोगों में जागरूकता फैलाई, अपनी जान की परवाह किए बगैर जमीन से जुडी सच्ची खबरों के माध्यम से हमें कार्य करने में मदद दी।

इन लोगों के सहयोग से ही सरकार हकीकत जान सकी। तभी आज उत्तर प्रदेश मुश्किल समय के दौर से उबर रहा है। जब प्रधानमंत्री जी ने मुझसे पूछा उत्तर प्रदेश में वैक्सीनेशन का अधिकतम वेस्टेज कितना हो रहा है, तो बताया गया कि शुरुआत में तो अधिक था, परंतु अब कम वेस्टेज हो रहा है। इसके साथ ही अन्य कई पहलुओं पर मीडिया के प्रयास की सीएम ने सराहना की।

सीएम ने कहा प्रारंभ में पहली लहर के दौरान प्रवासी मजदूर , कोटा में बच्चो को घर पहुंचाना, ये सब मीडिया के माध्यम से पता चला और रणनीति को बनाने में मददगर साबित हुआ। शुरू में प्रदेश में 36 जनपद ऐसे थे, जहां एक भी वेंटिलेटर नहीं था लेकिन आज सभी जनपदों में वेंटिलेटर उपलब्ध है। जब दिल्ली में कोरोना का भयावह रूप देखने को मिल रहा था, तब उस वक़्त बड़ी संख्या में दिल्ली के लोगों ने यूपी के करीब के जिलों में इलाज करवाया।

वैक्सीन की आज भी व्यापक पैमाने पर जरूरत है। वैक्सीन के बाद भी लोगो में संक्रमण मिला, लेकिन वो कमजोर था।  आज कोरोना नियंत्रण के लगभग करीब है लेकिन कब क्या हो जाए, कुछ नहीं कहा जा सकता है। जो दिवंगत हुए हैं, उनकी कमी कभी पूरी नहीं कर सकते हैं, लेकिन समाज का सपोर्ट संबल देता है। सरकार ने समय समय पर प्रयास किया है। जिन बच्चों माता-पिता दिवंगत हुए, उन बच्चों के लिए सरकार ने बाल सेवा योजना की शुरुआत की। आज इसका फायदा कई बच्चों को मिल रहा है।

Related posts

जानिए क्या है सीएम योगी का 3T मॉडल, रिकवरी रेट 96% पार

Aditya Mishra

प्रशिक्षण में भाग ने लेने वाले मतदान कार्मिकों के विरूद्ध दर्ज हेगी एफआईआर-सीडीओ

bharatkhabar

फर्जी पासपोर्ट मामले में छोटा राजन और तीन अन्य दोषी

nitin gupta