featured यूपी

सीएम योगी ने किया पीएसी की तीन नई महिला बटालियन का ऐलान, वीरांगना रानी अवंतीबाई लोधी को किया नमन

सीएम योगी ने किया पीएसी की तीन नई महिला बटालियन का ऐलान, वीरांगना रानी अवंतीबाई लोधी को किया नमन

लखनऊ : महिला सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन पर विशेष ध्यान दे रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नया ऐलान किया है। सीएम योगी ने अमर शहीद वीरांगना रानी अवंतीबाई लोधी के बलिदान दिवस पर उनको श्रद्धांजलि अर्पित की और ऐलान किया कि तीन वीरांगनाओं के नाम पर पीएसी की महिला बटालियनों का नाम रखा जाएगा।

मुख्यमंत्री ने प्रतिमा पर किया माल्यार्पण

बता दें कि शनिवार को भारत की आजादी के 75 वें वर्ष के रूप में मनाए जा रहे अमृत महोत्सव की कड़ी में वीरांगना रानी अवंतीबाई लोधी के बलिदान दिवस पर शनिवार सुबह सीएम योगी आदित्यनाथ ने हजरतगंज में रानी अवंतीबाई लोधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनको नमन किया।

इस अवसर पर सीएम योगी ने इन बलिदानी वीरांगनाओं की स्मृति में बदायूं मुख्यालय पर वीरांगना अवंती बाई महिला बटालियन, लखनऊ मुख्यालय पर वीरांगना ऊदा देवी महिला बटालियन और गोरखपुर मुख्यालय पर वीरांगना झलकारी बाई महिला बटालियन बनाए जाने की घोषणा की।

वीरांगनाओं को सीएम योगी ने किया याद

इस अवसर पर मुख्‍यमंत्री ने कहा कि देश के प्रथम स्‍वाधीनता समर में देश को अंग्रेजों की गुलामी से मुक्‍त कराने के लिए देश के अंदर अलग-अलग स्‍थानों पर क्रांति की अलख जली थी। इसमें यूपी के बुंदेलखंड ने भी बहुत बड़ी भूमिका निर्वहन किया था। इसमें झांसी की रानी लक्ष्‍मीबाई और रामगढ़ की रानी अवंतीबाई ने देश की आजादी में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

‘भारत के लिए प्रेरणास्रोत हैं वीरांगनाएं’

उन्‍होंने बताया कि 1857 में उन्‍होंने जीत भी हासिल की थी लेकिन घर का भेदी उनका दुश्‍मन साबित हुआ, यही रानी अवंतीबाई के साथ भी हुआ। जिस समय बहुत सारे राजा, महाराजा अपनी सत्‍ता व राज्‍य बचाने के लिए अंग्रेजों की गुलामी कर रहे थे।

उस समय रानी लक्ष्‍मीबाई व रानी अवंतीबाई ने अंग्रेजी हुकूमत की दासता स्‍वीकार करने से इंकार कर दिया। दोनों अपने अंतिम क्षणों तक देश की रक्षा, स्‍वाभिमान और सम्‍मान के लिए लड़ते रहे। इनका बलिदान हम सबको भारत की एकता और अखंडता को बनाए रखने के लिए प्रेरित करता है।

‘पुलिस में 20 प्रतिशत पद किया आरक्षित’

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में महिलाओ की सुरक्षा, स्‍वावलंबन और सम्‍मान के लिए विशेष कार्यक्रम मिशन शक्ति शुरू किया गया है। यूपी पुलिस में महिलाओं के लिए 20 प्रतिशत पद आरक्षित किए गए हैं। प्रदेश के 1535 थानों व 350 तहसीलों में महिला हेल्‍प डेस्‍क स्‍थापित की गई है। हर मंडल में महिलाओं के खिलाफ होने वाले साइबर अपराधों की सुनवाई के लिए पुलिस महानिरीक्षकों की तैनाती की गई है।

नारी सशक्तिकरण के लिए बना रहे पीएसी की नई बटालियन: सीएम

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि सरकार ने इन तीनों वीरांगनाओं के नाम पर पीएसी में तीन महिला बटालियनें बनाने का फैसला लिया है। इसके पीछे सरकार की मंशा है कि प्रदेश की युवा शक्ति इन नारी शक्तियों की वीर गाथाओं से परिचित हो जिन्होंने आज़ादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की इसके साथ ही प्रदेश में नारी सशक्तिकरण को बढ़ावा मिले।

Related posts

राष्ट्रपति ने दी दिल्ली सरकार के विधेयक को मंजूरी, निर्धारित वेतन से कम देने पर होगी जेल

lucknow bureua

यूपी:स्वास्थ्य महानिदेशक से मिले चिकित्सा स्वास्थ्य महासंघ के पदाधिकारी,कहा दो घंटे नहीं करेंगे काम

Shailendra Singh

आप मंत्रियों ने दी थी आने की सूचना नहींः उपराज्यपाल कार्यालय

Rahul srivastava