UP: मुख्‍यमंत्री योगी का निर्देश, कोरोना संक्रमित 12 जिलों की करें विशेष निगरानी

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रशासनिक अधिकारियों को कोविड-19 के प्रति पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। मंगलवार को उन्‍होंने राजधानी स्थित लोकभवन में कोविड-19 महामारी की रोकथाम के संबंध में गठित समितियों के अध्यक्षों के साथ बैठक की।

मुख्यमंत्री योगी ने लोक भवन में हुई में कोविड-19 की स्थिति के संबंध में समीक्षा की। इस दौरान उन्‍होंने संबंधित अधिकारियों को कोविड-19 के प्रति पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए।

कोविड अस्‍पतालों में पर्याप्‍त बेड उपलब्‍ध कराने के निर्देश

सीएम योगी ने कहा कि, सभी जिलों के कोविड अस्पतालों में अधिक से अधिक संख्या में बेड की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। जिलेवार स्थिति का आकलन करते हुए आवश्यकतानुसार अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की जाए।

मुख्‍यमंत्री ने राजधानी लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, वाराणसी, मेरठ, आगरा, गाजियाबाद, सहारनपुर, गोरखपुर, झांसी, गौतमबुद्ध नगर और बरेली में इलाज की व्यवस्था को सुदृढ़ करने के निर्देश दिए। उन्‍होंने कहा कि, इन जिलों में आवश्यकतानुसार विशेषज्ञ चिकित्सकों सहित चिकित्साकर्मियों की तैनाती की जाए।

सक्रियता से करें कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग: मुख्‍यमंत्री

सूबे के मुखिया ने कहा कि, इन जिलों में विशेष सचिव स्तर के अधिकारियों को भेजते हुए कोविड-19 से बचाव व उपचार की व्यवस्था का सतत अनुश्रवण किया जाए। कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए बेहतर कोविड प्रबंधन पर बल दिया जाए। कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के कार्य को पूरी सक्रियता से किया जाए।

मुख्‍यमंत्री योगी ने कहा कि, कोरोना के अधिक से अधिक टेस्ट किए जाएं। लक्षित आयु वर्ग के अधिकतम लोगों को कोविड टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जाए। इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए। होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमित मरीजों को नियमित रूप से मॉनिटर करते हुए उनका हालचाल लिया जाए।

सीएम ने की विभागों के कार्यों की प्रगति की समीक्षा

इसके अलावा मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने आज की बैठक में विभिन्न विभागों के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की और आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए। उन्‍होंने कहा कि, गर्मी के मौसम में आग लगने की दुर्घटनाओं को ध्यान में रखते हुए अतिरिक्त सजगता बरती जाए।

आग से प्रभावित किसानों को मिले मुआवजा राशि: सीएम योगी

सीएम योगी ने कहा कि, आग लगने की दुर्घटना होने पर प्रभावित लोगों को 24 घंटे में अनुमन्य मुआवजा राशि और अविलम्ब राशन सहित अन्य आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराई जाए। सभी जिलों में गेहूं क्रय केंद्र पूरी क्षमता से संचालित किए जाएं और खरीद कार्य की नियमित मॉनिटरिंग की जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि किसानों को अपनी उपज बेचने में अधिक समय तक इंतजार न करना पड़े और पर्याप्त संख्या में बोरे उपलब्ध रहें।

लोगों से मिलने के लिए सीएम तीरथ की अनोखी पहल, फॉर्च्यूनर गाड़ी को छोड़ा

Previous article

कोविड-19 को लेकर ACS स्वास्थ्य ने जारी किया बयान, दी अहम जानकारी

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured