सीएम अमरिंदर की विपक्ष को दो टूक, सिद्धू से नहीं लेंगे इस्तीफा

चंडीगढ़। पंजाब के स्थानीय मंत्री निकाय मंंत्री सिंह सिद्धू पर सुप्रीम कोर्ट में रोड़ रेज के मामले में सुनवाई चल रही है, जिसको लेकर विपक्षी दलों ने सिद्धू के इस्तीफे की मांग की है। विपक्षी दलों की इस मांग को सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सीरे से खारिज करते हुए कहा है कि सिद्धू से इस्तीफा लेने का सवाल ही नहीं पैदा होता। सीएम ने कहा कि सड़क पर झगड़े से संबंधित केस में सुप्रीम कोर्ट ने साल 2007 में सिद्धू को पहले ही रिहा कर दिया था। 

सीएम ने कहा कि 30 साल पुराने रोड़ रेज के मामले में प्रदेश सरकार द्वारा कोर्ट में सिर्फ अपना स्टैंड दोहराए जाने के आधार पर सिद्धू से इस्तीफा मांगने का सवाल ही नहीं उठता। उन्होंने कहा कि सजा पर रोक के कारण सिद्धू के मंत्री बने रहने में कोई अड़चन नहीं है। सिद्धू के खिलाफ इस केस में उनकी सरकार की तरफ से अपना स्टैंड न बदले जा सकने वाली बात को दोहराते हुए सीएम ने फिर उम्मीद जताई कि इस केस का फ़ैसला करने के समय जज की तरफ से सिद्धू के समाज और देश प्रति योगदान को ध्यान में रखा जाएगा।

सरकार की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में सिद्धू का जानबूझ कर समर्थन न किए जाने के बारे में आई रिपोर्टों पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जब तक सरकारी वकील को इस केस के साथ जुड़ी कोई नई जानकारी नहीं मिलती तब तक उनके लिए नया स्टैंड लेना कानूनी तौर पर संभव नहीं है। राज्य सरकार के वकीलों ने निचली अदालत और हाई कोर्ट में पक्ष रखा था और कोई नया सुबूत न होने पर सुप्रीम कोर्ट सामने पक्ष बदलने का कोई रास्ता नहीं था।