7 जनता दरबार में सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सुनी जनता की फरियाद

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत अब लगभग हर रविवार को जनता के बीच जाकर उनकी समस्याएं सुनेंगे तथा मौके पर ही जन समस्याओं का समाधान करेंगे। इसी क्रम में रविवार को मुख्यमंत्री ने माजरी ग्रांट डोईवाला में क्षेत्रीय जनता से भेंट की तथा मौके पर उपस्थित अधिकारियों को जनता की समस्याओं के निस्तारण के निर्देश दिये। इस अवसर पर बडी संख्या में क्षेत्रीय जनता उपस्थित थी। जनता से भेंट के दौरान जन समस्याओं की जानकारी प्राप्त करने के बाद मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को जन समस्याओं का समाधान तत्परता एवं पूरी जिम्मेदारी के साथ सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं।

7 जनता दरबार में सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सुनी जनता की फरियाद

उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों की जन समस्याओं का निराकरण उप जिलाधिकारी के स्तर पर हो जाय यह भी सुनिश्चित किया जाय ताकि अपनी छोटी-छोटी समस्याओं को लेकर लोगों को मुख्यमंत्री तक न आना पडे। मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश अधिकारियों को दिये है कि जिन समस्याओं का समाधान उनके स्तर पर सम्भव न हो इसके लिये सम्बन्धित व्यक्ति को लिखित में सूचित भी किया जाय। मुख्यमंत्री ने खेती को नुकसान पहुंचाये बिना योजनाओं के क्रियान्वयन एवं सिंचाई के पानी की अविरलता बनाये रखने पर ध्यान देने को कहा। उन्होंने कहा कि खेती है तो हम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि क्षेत्र की पेयजल सिंचाई सड़क आदि से संबंधित समस्याओं का समाधान प्राथमिकता पर किया जा रहा है। चाण्डी पुल के निर्माण, क्षेत्र की 10 नलकूपों की स्थापना के लिये धनराशि स्वीकृत कर दी गई है।

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के पेयजल व सिंचाई की समस्या के समाधान के लिये सूर्यधार झील का निर्माण किया जा रहा है, जिसका निर्माण एक वर्ष में पूर्ण होगा। इससे क्षेत्र के 43 गांवों को ग्रेविटी का पानी उपलब्ध होगा साथ ही नलकूपों के विद्युत व्यय का 07 करोड रूपय भी बचेगा तथा सिंचाई के लिये भी जल की आपूर्ति होगी। इससे वर्ष 2051 तक इस क्षेत्र की पेयजल समस्या का समाधान भी होगा। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास दीर्घ कालीन योजनाओं पर कार्य करने का है। देहरादून की पेयजल व्यवस्था में सुधार तथा यहां भी ग्रेविटी का पानी उपलब्ध कराने के लिये सौंग नदी पर बांध बनाया जा रहा है। इससे 100 करोड़ रूपये की भी बिजली की बचत होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि डोईवाला क्षेत्र में सेंट्रल इंस्टिट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी(सीपेट) की शुरूआत हो रही है। निफ्ट की स्थापना भी रानीपोखरी में शीघ्र्र की जायेगी। कोस्टगार्ड का रिक्रूटमेंट सेन्टर, आई.टी.बी.पी. टेªनिंग सेन्टर आदि भी स्थापित किये जा रहे है। इसमें हजारों युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।उन्होंने कहा कि डोईवाला डिग्री कॉलेज में साइंस फेकल्टी के साथ ही थानो में एलईडी से संबंधित 45 प्रकार के आईटम तैयार करने से संबंधित प्रशिक्षण केन्द्र के माध्यम से 50 मास्टर ट्रेनरों का प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। ऐसा ही प्रशिक्षण केन्द्र कोटाबाग में भी स्थापित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्थानीय संसाधनों के बेहतर उपयोग के साथ अभी 50 ग्रोथ सेंटर स्थापित किये जा रहे है। शीघ्र ही 670 न्याय पंचायतों में ग्रोथ सेंटर विकसित किये जायेंगे। इससे स्वरोजगार के अवसर पैदा होने के साथ ही नई टाउनशिप भी विकसित होगी।

उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिये रेडीमेड गारमेंट तैयार करने का भी प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं की आर्थिक दशा में सुधार के लिये प्रदेश के 625 मंदिरों में महिला स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से प्रसाद तैयार किये जाने की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री ने लोगों को आश्वस्त किया कि उनकी समस्याओं का निराकरण प्राथमिकता के आधार पर किया जायेगा। उन्होंने कहा कि डोईवाला में मिलन केन्द्र के साथ ही जमीन उपलब्ध होते ही स्टेडियम का भी निर्माण किया जायेगा।

इस अवसर पर अरूण सूद ने खेल नीति व स्टेडियम निर्माण, संदीप सिंह नेगी ने लाल तप्पड में बस स्टॉप बनाये जाने, विरेन्द्र दत्त खण्डूडी व हरीश गुंसाई ने पुरानी पेयजल लाइनों को बदलने तथा वन क्षेत्र से जुडे क्षेत्रों की समस्याओं के समाधान, श्री रामचन्द्र ने वन भूमि को राजस्व में परिवर्तित करने तथा जंगली जानवरों से खेती को हो रहे नुकसान से संबंधित समस्याएं रखी। इसके अतिरिक्त अन्य लोगों ने भी क्षेत्रीय विकास से संबंधित समस्याएं बतायी।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी देहरादून जी.एस.रावत, भाजपा जिला अध्यक्ष शमशेर सिंह, भाजपा नेता संदीप सैनी, माजरी ग्रांट की प्रधान किरण पाल, जीवनवाला के प्रधान सुंदर दास समेत जिला स्तरीय अधिकारी बडी संख्या उपस्थित थे।

PBOR पूर्व सैनिक वेलफेयर एसोसिएशन के 9वें स्थापना दिवस के कार्यक्रम में सम्मिलित हुए CM रावत

Previous article

महाराष्ट्र में पूर्ण कर्जमाफी की मांग कर रहे 30 हजार से ज्यादा किसान पहुंच मुंबई

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.