विकास परियोजनाओं का सीएम त्रिवेन्द्र सिंह ने किया शिलान्यास और लोकार्पण

विकास परियोजनाओं का सीएम त्रिवेन्द्र सिंह ने किया शिलान्यास और लोकार्पण

देहरादून। सूबे में विकास की नई इबारत लिखने के लिए सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत लगातार विकास की नई परियोजनाओं को सूबे में लागू करते जा रहे हैं। बीते शनिवार को सीएम रावत ने बागेश्वर के नुमाइसखेत मैदान में 1 अबर 30 करोड़ 13 लाख 26 हजार की 48 विकास परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। जिसमें बागेश्वर की 15 योजनाओं का लोकार्पण और 18 योजनाओं का शिलान्यास किया है। इसके साथ ही कपकोट के लिये 11 योजनाओं का लोकार्पण और 4 योजनाओं का शिलान्यास शामिल हैं।

इसके साथ ही सीएम ने सहकारिता विभाग की ओर से पं दीन दयाल उपाध्याय के नाम कृषि ऋण योजना के तहत 1437 लाभार्थियों को 7 करोड़ 5 लाख के चैक भी बांटे हैं। इस मौके पर दिव्यांगों के लिए समाज कल्याण विभाग की ओर से ट्राईसाइकिल सहित 105 अन्य उपकरण भी वितरित किए गए। इसके साथ ही सीएम रावत ने कई लोकार्पण और शिलान्यास किया। नुमाइसखेत मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुये मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश की स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरूस्त करना सरकार की प्राथमिकताओं में है। मुख्यमंत्री ने जिले में डाक्टरों की कमी को पूरा करने का आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि डाक्टरों की कमी को देखते हुये सरकार ने 170 डाक्टरों का चयन कर लिया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने 2019 तक हर परिवार को बिजली देने का लक्ष्य रखा है जिसे तय समय से पूरा किया जायेगा।

सूबे में भ्रष्टाचार को समाप्त करने के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने 1905 टोल फ्री नंबर जारी किया है। इसमें कोई भी व्यक्ति अपनी शिकायत या सुझाव दे सकते हैं। उनकी बात को रिकार्ड किया जायेगा और मुख्यमंत्री के स्तर पर शिकायत पर कार्रवाई की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि संचार सुविधा के क्षेत्र में उत्तराखंड शीघ्र ही देश का पहला राज्य होगा जो बैलून तकनीक का प्रयोग कर दूरस्थ क्षेत्रों में संचार सुविधा उपलब्ध कराएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने सैनिक और अर्धसैनिक बलों के शहीदों के आश्रित को उसकी योग्यता के अनुसार सरकारी सेवा में लेने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास के लिये आम आदमी को जागरूक होना जरूरी है। उन्होंने आम आदमी से सीधा संवाद किये जाने की जरूरत बताई। इन कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री के साथ केन्द्रीय कपड़ा राज्यमंत्री अजय टम्टा, उच्च शिक्षा एवं सहकारिता राज्य मंत्री डॉ.धन सिंह रावत, कपकोट विधायक बलवंत सिंह भौर्याल, विधायक सल्ट महेश के अलावा विभाग के कई अधिकारी और स्थानीय नेता मौजूद रहे।