Breaking News featured उत्तराखंड राज्य

सीएम रावत ने सचिवालय में की रबी विपणन 2018-19 की समीक्षा

WhatsApp Image 2018 04 03 at 4.00.29 PM सीएम रावत ने सचिवालय में की रबी विपणन 2018-19 की समीक्षा

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोमवार को सचिवालय में रबी विपणन सत्र 2018-19 की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि गेहूं की फसल कटाई से पूर्व सहकारिता विभाग को अपेक्षित धनराशि उपलब्ध करा दी जाए, ताकि किसानों को गेहूं क्रय मूल्य का भुगताल समय पर प्राप्त हो सके। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि गेहूं क्रय हेतु नामित विभाग एवं संस्थान आपसी समन्वय से गेहूं क्रय के लक्ष्यों को प्राप्त करने का प्रयास करें।

उन्होंने क्रय नीति को भी शीघ्र अंतिम रूप देने को कहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने गतवर्ष की भांति इस वर्ष भी 2.21 लाख मी.टन गेहूं क्रय लक्ष्य निर्धारित करने और गेहूं का समर्थन मूल्य भारत सरकार द्वारा निर्धारित दर 1735 रुपये प्रति कुन्तल निर्धारित किए जाने को कहा। मुख्यमंत्री ने गेहूं भण्डारण क्षमता और भण्डारण एंजेसियों से सम्बन्धित कार्ययोजना पर भी ध्यान देने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को गेहूं क्रय केन्द्रों पर कोई कठिनाई ने हो और गेहूं का मूल्य किसानों को समय पर उपलब्ध हो जाय, यह भी सुनिश्चित किया जाए।WhatsApp Image 2018 04 03 at 4.00.29 PM सीएम रावत ने सचिवालय में की रबी विपणन 2018-19 की समीक्षा

प्रमुख सचिव खाद्य श्री आनन्द बर्धन ने अवगत कराया कि प्रदेश में रबी विपणन सत्र 2018-19 हेतु 05 क्रय एजेन्सियां नामित की गई है, जिसमें खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग, उत्तराखण्ड राज्य सहकारी विपणन संघ लिमिटेड, भारतीय राष्ट्रीय कृषक उपज उपार्जन, प्रसंस्करण एवं रिटेलिंग सहकारी संघ मर्यादित, भारतीय राष्ट्रीय उपभोक्ता सहकारी संघ मर्यादित, उत्तर प्रदेश उपभोक्ता सहकारी संघ लिमिटेड शामिल है।

साथ ही प्रदेश में गढ़वाल व कुमाऊं मण्डलों में कुल 194 क्रय केन्द्र स्थापित किये गये है तथा चैक के माध्यम से कृषकों को किये जाने वाले भुगतान व क्रय गेहूं की स्टेटपूल डिपोज पर डिलिवरी हेतु साॅफ्टवेयर तैयार किया गया है। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश, सचिव डी.सैन्थिल पांडियन, गढ़वाल एवं कुमाऊं मण्डल के खाद्य अधिकारियों, सम्बन्धित विभागों व संस्थानों के अधिकारी उपस्थित थे।

Related posts

लाभ का पद मामले में आप विधायकों पर सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को सुना सकता फैसला

Rani Naqvi

अलविदा 2018: राजनीतिक परिवर्तन,राजनेता और सरकार

mahesh yadav

देश में ऐसा विकास हो जो गरीबों की स्थिति को बदले: मोदी

Rahul srivastava