September 25, 2022 2:07 am
Breaking News featured उत्तराखंड देश

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया इलेक्ट्रानिक बसों के ट्रायल का शुभारंभ, वित्तीय वर्ष में 30 बसें चलाने का प्रयास

b74a4da2 b9cc 465f b5e2 e86dabe0a6d1 सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया इलेक्ट्रानिक बसों के ट्रायल का शुभारंभ, वित्तीय वर्ष में 30 बसें चलाने का प्रयास

उत्तराखंड। राज्य सरकार द्वारा उत्तराखंड की उन्नति के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही है। जिससे राज्य की प्रगति जोर पकड़ ले। इसके साथ ही सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में देहरादून स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा देहरादून शहर में इलेक्ट्रिक बस का ट्रायल रन का फ्लैग ऑफ़ कर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देहरादून की जनता को बधाई देते हुए कहा कि यह एक अच्छी शुरुआत हुई है और पर्यावरण की दृष्टि से यह उत्तराखण्ड के लिए एक महत्वपूर्ण कदम साबित होगा। उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी देहरादून के अन्तर्गत इस वित्तीय वर्ष में 30 बसें चलाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

बसें पूरी तरह से वातानुकूल हैं-

बता दें कि आज सुबह 10 बजे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत स्मार्ट सिटी लिमिटेड की प्रोटो इलेक्ट्रिक बस को हरी झंडी दिखाकर ट्रायल रन के लिए रवाना किया। इस प्रोटो इलेक्ट्रिक बस का ट्रायल रन सफल होने पर दिसंबर माह के आखिरी सप्ताह तक देहरादून शहर के अलग-अलग रूटों पर 11 स्मार्ट इलेक्ट्रिक बसों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। इस स्मार्ट इलेक्ट्रिक बस की कई खासियतें हैंण् एक तरफ ये पूरी तरह से इलेक्ट्रिसिटी से चलती है। यानी कि बिजली से चलती है। इनके संचालन से वायु प्रदूषण नहीं होता। दूसरी तरफ इन बसों में यात्रियों के लिए आरामदायक सीट लगाई गई हैं। ये बसें पूरी तरह से वातानुकूल हैं। इसके अलावा स्मार्ट इलेक्ट्रिक बस में तीन भाषाओं में आप स्टॉपेज के नाम पढ़ सकेंगेण् इसमें हिंदीए अंग्रेजी और गढ़वाली भाषा शामिल हैण् वहींए दूसरी तरफ इस बस के ड्राइवर और कंडक्टर आपको पहाड़ी वेशभूषा में नजर आएंगे।

इलेक्ट्रिक बसों से प्रदूषण में कमी आएगी-

इसके साथ ही सीएम ने कहा कि हमारा यह भी प्रयास रहेगा कि धीरे-धीरे मसूरी, ऋषिकेश और हरिद्वार तक इन इलेक्ट्रिक बसों को चलाया जाए। उन्होंने कहा कि भारत सरकार का भी प्रयास है कि वर्ष 2030 तक पूरे देश को इलेक्ट्रिक बसों की ओर लाया जाए। इसके अलावा इन बसों से प्रदूषण में कमी आएगी। डीजल की बचत होगी और परिचालन खर्च में भी कमी आएगी। इसके साथ इस बस की खासियत यह भी है कि एक इलेक्ट्रिक बस 75 मिनट की चार्जिंग पर 220 किमी तक चल सकेगी। एक डीजल बस की तुलना में एक किमी पर 25 रुपए कम खर्च होंगे। वहीं इस अवसर पर मेयर देहरादून श्री सुनील उनियाल गामा, विधायक श्री गणेश जोशी एवं सीईओ स्मार्ट सिटी देहरादून श्री आशीष श्रीवास्तव भी उपस्थित थे।

Related posts

लखीमपुर हिंसा: लखीमपुर पहुंचे राहुल और प्रियंका गांधी, पीड़ित परिवार से करेंगे मुलाकात

Saurabh

राष्ट्रपति ने राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की रखी आधारशिला, कहा विश्व के सर्वोत्तम शिक्षा प्रणाली अपनाई जाए

Neetu Rajbhar

कोरोना के कहर के बीच पाकिस्तान ने हिन्दुओं को दी मंदिरों मे पूजा करने की अनुमति..

Mamta Gautam