सीएम रावत ने सिडकुल हरिद्वार के उद्यमियों की समस्याओं के समाधान के लिये प्रमुख सचिव को दिए निर्देश

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सिडकुल हरिद्वार के उद्यमियों की विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिये प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास को निर्देश दिये है। उन्होंने इन उद्योगों में कार्यरत श्रमिकों की सुविधाओं पर भी ध्यान दने को कहा है। उन्होंने कहा कि जीएसटी के अन्तर्गत उद्योगों को राज्य सरकार द्वारा दिये जाने वाले अनुदान से सम्बंधित प्रकरण को कैबिनेट के समक्ष रखा जायेगा। मुख्यमंत्री ने उद्योगो को निरन्तर विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ ही क्वालिटी आॉफ पॉवर पर विशेष ध्यान देने के भी निर्देश दिये है। इसके लिये यदि अतिरिक्त विद्युत स्टेशनों की जरूरत पडती है, तो वह स्थापित किये जाए।

बता दें कि बीते बुधवार को सचिवालय में विधायक रानीपुर आदेश चैहान के नेतृत्व में हरिद्वार के उद्यमियों एवं सम्बंधित विभाग के अधिकारियों के साथ उद्यमियों एवं औद्योगिक क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं से संबंधित बैठक में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि प्रदेश में उद्यमियों को अनुकूल वातावरण व सुविधायें उपलब्ध करायी जायेगी। उन्होंने विधायक आदेश चैहान, सिडकुल इंडस्ट्रीयल एसोसियेशन, सिडकुल एन्टरप्रेन्योर वेलफेयर एसोशियेशन एवं अन्य उद्योगों के प्रतिनिधियों द्वारा इंगित समस्याओं पर चर्चा की तथा उनके निराकरण के निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिये।

वहीं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने सिडकुल में कार्यरत श्रमिकों आदि के लिये पेयजल व्यवस्था हेतु वॉटर एटीएम की स्थापना के साथ ही क्षेत्र की सफाई, सुरक्षा, शौचालय सड़क आदि सुविधाओं को और अधिक प्रभावी बनाये जाने पर बल दिय। मुख्यमंत्री ने सीडा के स्तर पर उद्योगो को और अधिक सुविधायें उपलब्ध कराये जाने व सीडा के स्तर पर लम्बित प्रकरणों के निस्तारण में शीघ्रता से कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने उत्तराधिकार के प्रकरणों में बेटो के साथ बेटियों को भी समान रूप से नामित किये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित किये जाने को कहा।

साथ ही मुख्यमंत्री ने सेन्ट्रल ग्राउण्ड वाॅटर अथॉरिटी एवं बायो-डायवर्सिटी बोर्ड के स्तर पर उद्यमियों से पिछले कई वर्षों का एरियर भुगतान किये जाने से संबंधित प्रकरण के निस्तारण के भी निर्देश प्रमुख सचिव को दिये है। उन्होंने उद्योगो के लिये लीज रेन्ट मेंटिनेन्स चार्जेज को भी ऑनलाईन किये जाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने सिडकुल क्षेत्र में ऑपरेशन मेंटिनेन्स बोर्ड को अधिकार सम्पन्न बनाये जाने तथा सिडकुल के अन्दर मेन्टिनेंस आॅफिस स्थापित करने के भी निर्देश दिये। इससे उद्यमियों की समस्याओं के त्वरित समाधान में मदद मिलेगी।

वहीं मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने उद्यमियों से पर्यावरण संरक्षण एवं जल संशोधन के प्रति भी ध्यान देने को कहा। उन्होंने उद्यमियों से सीएसआर के तहत अधिक से अधिक जन कल्याण से संबंधित योजनाओं के क्रियान्वयन में भी सहयोगी बनने की अपेक्षा की। बैठक में मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह, प्रमुख सचिव श्रीमती मनीषा पंवार, सिडकुल इंडस्ट्रीयल एसोसियेशन के श्री अरूण सारस्वत, सिडकुल एन्टरप्रेन्योर वेलफेयर एसोशियेशन के श्री हिमेश कपूर, श्री सुधीर कुमार, श्री विकास गर्ग, श्री संजय गुप्ता, श्री देवाशीष सरकार आदि के साथ ही संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।