November 29, 2021 7:44 pm
featured मध्यप्रदेश राज्य

सीएम कमल नाथ ने तीन दिवसीय IAS ऑफीसर्स मीट का शुभारंभ किया

कमल नाथ सीएम कमल नाथ ने तीन दिवसीय IAS ऑफीसर्स मीट का शुभारंभ किया

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आज कन्वेंशन सेंटर में तीन दिवसीय आईएएस ऑफीसर्स मीट का शुभारंभ किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जरूरतमंदों की मंशा के अनुरूप योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाना वर्तमान समय की आवश्यकता है। सीएम ने कहा कि सफलता और संतुष्टि में बहुत अंतर होता है। किसी पद को प्राप्त करने की सफलता संतुष्टि का आधार नहीं होती। संतुष्टि सफल परिणामों से मिलती है। सफलता किसी पद पर बने रहने तक रहती है, जबकि संतुष्टि सारा जीवन साथ चलती है।

 

कमल नाथ सीएम कमल नाथ ने तीन दिवसीय IAS ऑफीसर्स मीट का शुभारंभ किया

इसे भी पढ़ेंःMP: कमलनाथ के मंत्री के बिगड़े बोल कहा, अफसरों ने काम नहीं किया तो लात मारकर बाहर कर देंगे

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि सम्पूर्ण विश्व भारत को उसकी अनेकता में एकता की ताकत के लिये देखता है, आर्थिक और सैनिक शक्ति के लिये नहीं। उन्होंने कहा कि हमारी सबसे बड़ी खूबी सहनशीलता है, जो चन्द्रगुप्त मौर्य और सम्राट अशोक के समय से विद्यमान है। हमें गर्व होना चाहिये कि हम ऐसे देश के नागरिक हैं। जहां अनेक धर्म, जाति, परम्पराएं, भाषाएं विद्यमान हैं। दुनिया में कोई ऐसा अन्य राष्ट्र नहीं है। हमारा पहनावा भी भौगोलिक बदलाव के साथ बदल जाता है। हमारी विविधता और अनेकता ही हमारी शक्ति है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका संरक्षण वर्तमान समय की सबसे बड़ी चुनौती है।

इसे भी पढ़ें-मप्रः वंदे मातरम गाने पर कमलनाथ सरकार ने बदला फैसला

कमल नाथ ने कहा कि तेजी से बदलते विश्व की चुनौतियों के साथ देश और प्रदेश का नव-निर्माण करना समय की मांग है। इसके अनुरूप ही हम सबको मिलकर, संकल्पित और समर्पित होकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि सेवा के स्वरूप में परिवर्तन के साथ-साथ आम जनता की अपेक्षाओं में भी बदलाव हुआ है। वैश्विक स्तर पर नाटो का स्वरूप बदला है। अब गुटनिरपेक्ष जैसे आंदोलनों की चर्चा नहीं होती।

सीएम ने कहा कि देश ने इन परिवर्तनों को बखूबी अपनाया है। हमारे सामने चुनौती यह है कि हम वैश्विक बदलावों को कैसे देखते हैं, कैसे स्वीकार करते हैं। कमल नाथ ने कहा कि आज अधिकारियों के समक्ष सबसे बड़ा दायित्व नवीन परिवर्तनों के साथ देश और प्रदेश को आगे ले जाना है। सोचना होगा कि शासन में बदलाव और सुधार कैसे किया जाये। उन्होंने कहा कि इसी तथ्य पर प्रदेश के भविष्य का स्वरूप तय होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑफिसर्स मीट एक अच्छी पहल है। इससे सीनियर और जूनियर अधिकारियों को अनौपारिक वातावरण में मिलने का अवसर मिलता है। उन्होंने कहा कि भारतीय प्रशासनिक सेवा सबसे अधिक व्यापक और विविधता से परिपूर्ण है। किसी अन्य सेवा की तुलना में यहां कार्यक्षेत्र का विस्तार अधिक है। प्रशासनिक सेवा के अधिकारी को सम्पूर्ण सेवाकाल में अलग-अलग कार्यक्षेत्र में सेवा करने का अनुभव मिलता है, जबकि अन्य सेवाओं में ऐसा नहीं है।

Related posts

ब्रेन हेमरेज के अटैक के बाद एनडी तिवारी अस्पताल में भर्ती, हालत बनी नाजुक

piyush shukla

ईवीएम पर जो विवाद है उस विषय पर निर्वाचन आयोग हर तरह की आलोचना का सामना करने के लिए तैयार

Rani Naqvi

आज घोषित होगा यूजीसी नेट 2017 का परिणाम

Srishti vishwakarma