WhatsApp Image 2018 03 22 at 1.23.10 PM सीएम ने दिया आश्वासन, किसानों ने अनिश्चितकाल के लिए त्यागी भूख हड़ताल

भुवनेश्वर। ओडिशा में लोअर पीएमजी की मांग को लेकर पिछले 10 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे किसानों से मिलने बीजेडी के विधायक पहुंचे। विधायकों ने मुख्यमंत्री की बात को किसानों तक पहुंचाते हुए उन्हें भरोसा दिलाया कि सीएम आपकी मांगों पर विचार करेंगे इसलिए आप धरना रद्द कर दीजिए। विधायकों की बात मानकर किसानों ने सरकार को पांच मई तक के लिए आंदोलन खत्म कर थोड़ी राहत पहुंचाने का काम किया है। किसानों की भूख हड़ताल खत्म होने को लेकर किसान  संगठन के कोऑर्डिनेटर अक्षय कुमार ने बताया कि विधायक दल के जरिए मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है कि किसानों की सामाजिक सुरक्षा के लिए सदन में रेजॉल्यूशन पास किया जाएगा। हालांकि उन्होंने साफ किया कि अगर उनकी मांगे नहीं मानी गई तो आंदोलन फिर से शुरू होगा।WhatsApp Image 2018 03 22 at 1.23.10 PM सीएम ने दिया आश्वासन, किसानों ने अनिश्चितकाल के लिए त्यागी भूख हड़ताल

वहीं विधायक दल के मुखिया समीर दास ने कहा कि सरकार रेजॉलूशन लाने के लिए तैयार है। राज्य के वित्तमंत्री की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया जाएगा जो किसानों की परेशानियों का समाधान करेगी। गौरतलब है कि लगभग 200 किसान पिछले 10 दिन से नवनिर्माण कृषक संगठन के बैनर तले भूख हड़ताल पर बैठे हैं। किसानों की मांग है कि उन्हें पेंशन दी जाए, किसानों के कर्ज माफ किए जाएं और उत्पादन के लिए सही कीमत दी जाए। किसानों ने बुधवार को विधानसभा घेरने की योजना बनाई थी। बीजेडी विधायक ब्योमकेश रे ने बताया कि किसानों से मुख्यमंत्री की सलाह के बाद वे मिलने पहुंचे।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार किसानों की मांगों को लेकर गंभीर है। मुख्यमंत्री उनकी मांगों को लेकर जल्द ही फैसला करेंगे।सूत्रों के मुताबिक किसानों ने बीजेडी विधायकों के कृषि मंत्री से समझौता करने के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। बुधवार सुबह कुमार ने पत्रकारों से बताया था कि अगर सरकार उनकी मांगों को लेकर अपना रुख साफ नहीं करती है तो दोपहर बाद विधानसभा का घेराव किया जाएगा। कुमार ने बताया कि पहले कई बार प्रशासन ने किसानों को आश्वासन दिया है लेकिन राज्य सरकार ने उनकी मांगें पूरी नहीं कीं।किसानों की मांग है कि सभी किसानों को 5000 रुपये प्रतिमाह पेंशन दी जाए।

राशन कार्ड फर्जीवाडे पर मोदी सरकार की यह पहल लगाएगी लगाम

Previous article

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में आतंकवादियों से 48 घंटे तक लोहा लेते हुए 5 जवान शहीद

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.