January 28, 2023 1:49 am
featured देश

गुजरात तक पहुंचा जेएनयू, एबीवीपी और लेफ्ट विंग के छात्रों के बीच हुई झड़प का विवाद

अहमदाबाद गुजरात तक पहुंचा जेएनयू, एबीवीपी और लेफ्ट विंग के छात्रों के बीच हुई झड़प का विवाद

अहमदाबाद। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी दिल्ली में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और लेफ्ट विंग के छात्रों के बीच हुई झड़प का विवाद गुजरात तक पहुंच गया है। जेएनयू में हुई घटना का विरोध करने मंगलवार को अहमदाबाद में अभाविप के कार्यालय पहुंचे एनएसयूआइ के कार्यकर्ताओं के साथ जमकर हाथपाई हुई। दोनों गुटों में बीच लाठी-डंडे चले तथा जमकर पथराव हुआ। इस दौरान दोनों गुटों के कई लोग घायल हो गए है। सूचना पाते ही एलिब्रिज पुलिस की टीम मौके पर पहुंची है।

बता दें कि अहमदाबाद के पालड़ी क्षेत्र में स्थित अभाविप के कार्यालय के बाहर यह घटना हुई। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हुई छात्रों से मारपीट के विरोध में एनएसयूआइ के कार्यकर्ता अभाविप कार्यालय के बाहर विरोध करने पहुंचे थे। इस दौरान दोनों संगठनों के कार्यकर्ताओं के झड़प हुई। देखते ही देखते ही दोनों गुटों के बीच लात-घूसे व लाठी-डंडे चलने लगे। इस घटना में एनएसयूआइ राष्ट्रीय महामंत्री निखिल सवानी गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें लहुलूहान अवस्था में ले जाया गया। उन्होंने आरोप लगाया है कि एनएसआइयू के कार्यकर्ताओं ने शांतिपूर्ण विरोध कर रहे थे। तभी अभाविप के कार्यकर्ताओं ने सामने से हमला किया। उन पर लाठियां व पाइप से हमला किया गया। इस हमलें में उनके कई साथी भी घायल हो गए हैं।

उधर, अभाविप का कहना है कि एनएसयूआइ के 150 से अधिक कार्यकर्ता लाठियों के साथ कार्यालय में घुस आए और उनके साथियों को जमकर पीटा गया। भाजपा यवा मोर्चा के अध्यक्ष ऋत्विक पटेल ने कहा कि यह बहुत ही दुखत घटना है। एनएसयूआइ के कार्यकर्ताओं द्वारा हमला किया गया है। दोनों ही संगठनों के लोग घायल हुए है। गुजरात कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष दोषी ने कहा कि एनएसयूआइ के कार्यकर्ताओं द्वारा जेएनयू में छात्रों पर हुए हमले को लेकर शांतिपूर्ण विरोध करने के लिए अभाविप के कार्यालय पहुंचे थे, लेकिन यहां भी अभाविप के गुंडों द्वारा छात्रों पर हमला किया गया। एनएसआइयू के राष्ट्रीय महामंत्री निखिल सवानी पर लाठियां बरसाई गईं। वे गंभीर रूप से घायल हो गए है। इस की जितनी भी निंदा की जाए कम है। सरकार को इस मामले में कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

Related posts

कौन थीं कोरोना संत, 1800 साल पहले ‘कोरोना संत’ के साथ जो दुनिया ने किया था, आज वो ही ‘कोरोना’ दुनिया के साथ कर रहा है..

Mamta Gautam

UP Election 1st Phase Voting: यूपी में प्रथम चरण की 58 सीटों पर 59.87 फीसदी मतदान

Neetu Rajbhar

पश्चिम बंगाल में 2 और राजस्थान में 3 सीटों पर वोटिंग, माना जा रहा सेमीफाइनल

Rani Naqvi