January 27, 2022 4:13 am
Breaking News यूपी

दावा: उज्ज्वला योजना के 78 फीसदी लाभार्थी बना रहे मिट्टी के चूल्हे पर खाना

दावा: उज्ज्वला योजना के 78 फीसदी लाभार्थी बना रहे मिट्टी के चूल्हे पर खाना

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने एक बार फिर योगी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने हाल ही में शुरू हुई उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण को छलावा करार दिया है। अखिलेश ने कहा है कि ‘स्वच्छ इंधन, बेहतर जीवन‘ के नारे के साथ लांच हुई उज्ज्वला योजना 2.0 चुनाव से ठीक पहले भाजपा का जनता से दूसरा बड़ा छलावा भर है। देखा जाए तो यह योजना ‘मंहगा ईंधन, बेकार जीवन‘ में बदल चुकी है। उन्होंने दावा किया है कि उज्ज्वला योजना के 78 फीसदी लाभार्थी दोबारा लकड़ी के चूल्हे पर खाना बना रहे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी विज्ञापनों और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयानों में गांव की महिलाओं को सशक्त बनाने की बात कही जाती है और उज्ज्वला योजना का ऐलान भी इसी मकसद से किया गया है। लेकिन, सवाल यह है कि गरीबों को लाखों की संख्या में रसोई गैसा चूल्हा और सिलेंडर दिए जाने का दावा किया जाता है मगर हकीकत इसके ठीक उलट है।

akhilesh yadav 22 दावा: उज्ज्वला योजना के 78 फीसदी लाभार्थी बना रहे मिट्टी के चूल्हे पर खाना

उन्होंने उज्ज्वला योजना को फेल बताते हुए कहा कि सिलेंडर और चूल्हे तो शोपीस बन गए हैं। क्योंकि महंगी रसोई गैस को खरीदना गरीबों के बस की बात नहीं रही है। उन्होंने एनएसओ के सर्वे का हवाला देते हुए कहा कि गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले 20 फीसदी परिवारों की प्रतिमाह आय 1065 रूपए ही है। जबकि, जुलाई महीने में गैस सिलेंड 933 रूपए का मिल रहा था। उन्होंने कहा कि पिछले सवा साल में ही रसोई गैस सिलेंडर के दामों में 321 रूपए की बढ़ोत्तरी की गई है। अखिलेश यादव ने कहा कि एक अगस्त को एक बार फिर सरकार ने 19 किलोग्राम वाले कमर्शियल गैस सिलेंडर के दामों में 73.5 रूपए की बढ़ोत्तरी की गई है। इसके अलावा सब्सिडी को अब फिक्स कर दिया गया है।

अखिलेश यादव ने कहा कि उज्ज्वला योजना को सरकार ने फेल कर दिया है। हकीकत यह है कि जिन परिवारों ने इस योजना के तहत गैस सिलेंडर लिए हैं, वो दोबारा इसको भरवा नहीं पाए हैं। करीब 78 फीसदी परिवार एक बार फिर लकड़ी के चूल्हे पर खाना बनाना शुरू कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि सरकार एक बार फिर उज्ज्वला योजना को लेकर आई है। चुनाव के ठीक पहले सरकार ने प्लानिंग के तहत इसको लॉन्च किया है। लेकिन, बीजेपी का यह एजेंडा इस बार कामयाब नहीं होगा।

Related posts

दुनिया का तीसरा ध्रुव 50 सालों में खिसका 450 मीटर पीछे, ग्लोबल वार्मिंग से पड़ रहा भारी असर

Trinath Mishra

पीएम मोदी का कैबिनेट विस्तार: मंत्री रविशंकर और प्रकाश जावेडकर ने दिया इस्तीफा

Shailendra Singh

गणतंत्र दिवसः सिंघु बाॅर्डर से शुरू हुई ट्रैक्टर रैली, सेना ने भी परेड में दिखाया अपना जज्बा

Aman Sharma