लोक जनशक्ति पार्टी के संसदीय दल के नेता चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की

लोक जनशक्ति पार्टी के संसदीय दल के नेता चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की

पटना। लोक जनशक्ति पार्टी के संसदीय दल के नेता चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनके आवास पर मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच सीट शेयरिंग सहित विभिन्न मुद्दों पर बातचीत हुई। चिराग ने सात सीटों के लिए भूमिका बांधी। साथ ही रालोसपा प्रमुख की बयानबाजी से आहत मुख्यमंत्री के समर्थन में रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा को गठबंधन धर्म का पाठ पढ़ाते हुए एनडीए की आपसी बातों को सार्वजनिक नहीं करने की सलाह भी दी। यह भी स्पष्ट कर दिया कि वह जमुई से ही लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। चिराग पासवान पूर्वाह्न में सीएम आवास पहुंचे।

 

वहीं सियासत कहें या संयोग चिराग जब पहुंचे तो वहां जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर और नरेंद्र देव के बेटे पूर्व विधायक सुमित सिंह भी मौजूद थे। 55 मिनट की इस मुलाकात में चिराग पासवान का फोकस था कि लोकसभा चुनाव में एनडीए से लोजपा को सात सीट मिलें और नीतीश कुमार इसके लिए उनका समर्थन करें। इस मौके पर लोजपा के प्रदेश प्रवक्ता अशरफ अंसारी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने भी चिराग पासवान को यह एहसास करा दिया कि एनडीए का घटक दल होने के बाद भी रालोसपा प्रमुख उनको लेकर जो बयानबाजी कर रहे हैं, उससे वे कितने दुखी हैं। गठबंधन को इससे क्या नुकसान हो सकता है।

बता दें कि इसी का असर था कि सीएम आवास के बाहर निकलते ही लोजपा संसदीय दल के नेता ने बयान दिया कि जदयू की ओर से किसी तरह की बयानबाजी नहीं हो रही है। आरएलएसपी की ओर से वन वे ट्रैफिक चल रहा है। उपेंद्र कुशवाहा का विपक्षी नेताओं से मिलना समझ से परे है। पूर्व विधायक सुमित सिंह से विवाद पर कहा कि हमसे कभी व्यक्तिगत मतभेद नहीं था। सोशल मीडिया में ही विवाद की खबरें आ रही थीं।