featured भारत खबर विशेष

मंगल ग्रह पर भारत के परचमों को देखकर चीन की बढ़ी बेचैनी उठाया बड़ा कदम..

mangal 2 मंगल ग्रह पर भारत के परचमों को देखकर चीन की बढ़ी बेचैनी उठाया बड़ा कदम..

भारत मंगल ग्रह पर पहुंचने वाला पहला देश एशियाई देश बन चुका है। भारत ने ये सफलता 2014 में पा ली थी। जिसको देखकर चीन को काफी बेताबी हो रही थी। अब चीन भी मंगल ग्रह पर पहुंचने वाला है। चीन ने जल्‍द ही मंगल ग्रह पर ‘तियानवेन-1’ को भेजने की योजना बनाई है। यह चीन की आगामी तीन प्रमुख महत्‍वाकांक्षी मिशनों में से एक है। भारत ने छह वर्ष पहले ही मंगल ग्रह की कक्षा में पहुंचने वाला पहला एशियाई देश बना था।

india vs chaina मंगल ग्रह पर भारत के परचमों को देखकर चीन की बढ़ी बेचैनी उठाया बड़ा कदम..
अगर यूरोपीय संघ को छोड़ दिया जाए तो दो देश पहले ही मंगल ग्रह की कक्षा में पहुंचने में कामयाब रहे हैं। अगर चीन का यह मिशन सफल रहा तो वह मंगल की कक्षा पर पहुंचने वाला चौथा मुल्‍क होगा। तियानवेन -1 चीन का पहला मंगल मिशन है। इसका उद्देश्य मंगल ग्रह के रहस्य जानना है और वहां से जानकारी इकठ्ठा करना है।

https://www.bharatkhabar.com/pm-modi-can-join-ram-janmabhoomi-pujan/

तियानवेन का नाम चीन के जाने माने कवि कु युआन की लिखी एक कविता पर रखा गया है। चीन का ये मिशन बेहद महत्वकांक्षी बताया जा रहा है। जिसके जरिए चीन अब मंगल ग्रह पर भी अपना दबदबा बनाएगा। चीन इस मिशन को जुलाई तक लॉन्च कर देगा।

Related posts

रायबरेलीः पत्नी ने बहनोई के साथ मिलकर करवाई थी पति की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा

Shailendra Singh

मंत्री हरीश चौधरी ने राजस्थान और पंजाब में बताया अंतर, कहा विधायक अशोक गहलोत के साथ हैं

Kalpana Chauhan

भारत में फिर बढ़ रहे है कोरोना, दैनिक मामलों में 14 फ़ीसदी की हुई बढ़ोतरी

Neetu Rajbhar