बरेली में नहीं मिल रही ब्लैक फंगस की दवाई, खतरे में मरीजों की जान

देश में कोरोना के साथ-साथ अभी ब्लैक फंगस का भी खतरा टला नहीं है। विशेषज्ञ लगातार चेता रहे हैं कि लोगों की थोड़ी सी लापरवाही फिर से वैसी ही स्थिति को दावत दे सकती है। इसी क्रम में छत्तीसगढ़ में पिछले 4 दिनों में ब्लैक फंगस के मामले तेजी से सामने आए हैं।

ठीक हुए मरीजों को फिर हुआ ब्लैक फंगस

बता दें कि संक्रमित मरीजों में ज्यादातर वो मरीज हैं जिन्हें कुछ ही महीने पहले ब्लैक फंगस हुआ था। इनका ऑपरेशन कर शरीर के अंग निकाले गए थे, लेकिन ठीक होने के बावजूद उन्हें फिर से फंगस ने घेर लिया। सिर्फ रायपुर में पिछले 4 दिनों में ब्लैक फंगस के 18 और बिलासपुर में 6 मामले सामने आए हैं।

राज्य में 161 सक्रिय मरीज

ताजा रिपोर्ट के मुताबिक छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस के 161 सक्रिय मरीज हैं, जिनका इलाज चल रहा है। वहीं राज्य में अबतक ब्लैक फंगस के 400 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 39 की मौत हो चुकी है। बता दें कि राज्य में ब्लैक फंगस के मामले बढ़े हैं, लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार धीमी हुई है।

जानकारी के मुताबिक प्रदेश में अब 0.6 फीसदी संक्रमण दर है। और बीते 24 घण्टे में 252 नए कोरोना मरीज राज्य में मिले हैं, और 4 लोगों की मौत हुई है।

9 लाख 81 हजार 303 मरीज रिकवर

जारी ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घण्टे में 370 मरीजों ने कोरोना को मात दी। वहीं राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या अब 4028 हो गई है। और कुल मरीजों की संख्या 9 लाख 98 हजार 817 हुई। तो 13 हजार 486 लोगों की मौत हो चुकी है। अच्छी बात ये है कि प्रदेश में अबतक 9 लाख 81 हजार 303 मरीज रिकवर हो चुके हैं।

25वें दिन भी शिक्षक अभ्यर्थियों का धरना जारी, बस एक ही है मांग

Previous article

प्रयागराज: इलाहाबाद विवि में लाइब्रेरी खोलने के लिए चलाया गया हस्ताक्षर अभियान

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured