BCCI से नाराज हुए चेतन चौहान, नहीं रोकना चाहिए मोहम्मद शमी का कॉन्ट्रैक्ट

नई दिल्ली। पूर्व क्रिकेटर और उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री चेतन चौहान का कहना है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को मोहम्मद शमी का कॉन्ट्रैक्ट नहीं रोकना चाहिए। यूपी के खेल मंत्री चौहान ने बोर्ड के इस फैसले पर नाराजगी जताते हुए कहा कि मोहम्मद शमी के इस मामले में क्रिकेट का कोई संबंध नहीं है इसलिए उनका कॉन्ट्रैक्ट नहीं रोका जाना चाहिए था। चौहान ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि मैं समझता हूं कि बीसीसीआई को मोहम्मद शमी का कॉन्ट्रैक्ट नहीं रोकना चाहिए क्योंकि उन पर जो भी आरोप हैं, उससे क्रिकेट का कुछ लेना-देना नहीं है।’ उन्होंने कहा कि यह उनका (शमी) निजी मामला है।

बता दें कि इन दिनों सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासनिक समिति (CoA) बीसीसीआई का संचालन कर रही है। हसीन जहां ने शमी पर घरेलू हिंसा और एक्स्ट्रा मैरिटर अफेयर्स के आरोप लगाए, तो फिर CoA ने शमी का सालाना कॉन्ट्रैक्ट रोक दिया। अपने आरोपों में हसीन ने कहा कि शमी ने उन्हें शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया है और उनके कई महिलाओं से एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर्स हैं। प्रशासनिक कमिटी को खिलाड़ियों से बीसीसीआई के नए कॉन्ट्रैक्ट की घोषणा करनी थी। इसमें शमी का भी नाम शामिल था।

वहीं लेकिन कमिटी ने यह कहते हुए शमी का कॉन्ट्रेक्ट रोक दिया कि पहले वह शमी पर लगे इन आरोपों की जांच करेगी और इसके बाद ही वह शमी के कॉन्ट्रैक्ट पर कोई निर्णय लेगी। शुक्रवार को शमी पर भारतीय दंड संहिता (IPC) की कई गैर-जमानती और जमानती धाराओं में शिकायत दर्ज की गई है। उन पर धारा 498A में भी मामला दर्ज किया गया है, जो किसी महिला को उसके पति या उसके रिश्तेदारों से प्रताड़ित करने से जुड़ा है।