चेन्नई ने मुंबई को 1 विकेट से दी मात

चेन्नई ने मुंबई को 1 विकेट से दी मात

नई दिल्ली। कल आइपीएल का आगाज हुआ और पहला मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच हुआ जो कि बेहद रोमांचक रहा। ड्वेन ब्रावो के 30 गेंद में 68 रन की मदद से चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल 11 के बेहद रोमांचक पहले मैच में मुंबई इंडियंस को एक गेंद बाकी रहते एक विकेट से हरा दिया। हरफनमौला कृणाल पंड्या के 22 गेंद में 41 रन की मदद से मुंबई इंडियंस ने चार विकेट पर 165 रन बनाये थे। जवाब में चेन्नई ने 15वें ओवर में सात विकेट 105 रन पर गंवा दिये थे लेकिन ब्रावो ने 30 गेंद में तीन चौकों और सात छक्कों की मदद से 68 रन बनाकर मैच का पासा पलट दिया।

दो साल बाद आईपीएल में वापसी करने वाली महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई टीम को आखिरी तीन ओवर में 47 रन की जरूरत थी। ब्रावो ने 18वें ओवर में मैच की तस्वीर बदलते हुए नाथन मैक्लीनागन को दो छक्के और एक चौका जड़ा। इसके अगले ओवर में जसप्रीत बुमराह को तीन छक्के लगाये लेकिन आखिरी गेंद पर मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा को कैच दे बैठे।

धोनी-रैना और शेन वॉटसन रहे फ्लॉप
अब चेन्नई को एक ओवर में सात रन चाहिए थे और रिटायर्ड हर्ट हो चुके केदार जाधव क्रीज पर उतरे। मुस्ताफिजूर रहमान की पहली तीन गेंद खाली जाने के बाद जाधव ने चौथी गेंद पर छक्का लगाकर स्कोर बराबर किया और अगली गेंद पर चौके के साथ विजयी रन लिए। इससे पहले चेन्नई के सितारा बल्लेबाज कप्तान धोनी (5), सुरेश रैना (4) रविंद्र जडेजा (12) और शेन वॉटसन (16) जल्दी आउट हो गए थे। मुंबई के लिए मयंक मार्कंडेय और हार्दिक पंडया ने तीन-तीन विकेट लिए।

मुंबई की शुरुआत अच्छी नहीं रही
इससे पहले मुंबई की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही और उसका स्कोर एक समय दो विकेट पर 20 रन था जब सलामी बल्लेबाज एविन लुइस (0) और कप्तान रोहित शर्मा (15) सस्ते में आउट हो गए. इसके बाद सूर्यकुमार यादव ने 29 गेंद में 43 और ईशान किशन ने 29 गेंद में 40 रन बनाकर मुंबई को ढर्रे पर लौटाया। दोनों ने तीसरे विकेट के लिये 78 रन जोड़े। इनके बाद कृणाल और हार्दिक पंड्या ने मिलकर 5.2 ओवर में 52 रन बनाकर टीम को 160 रन के पार पहुंचाया। कृणाल ने 17वें ओवर में दो चौके और एक छक्का लगाया। मार्क वुड्स के इस ओवर में 19 रन बने। उसने 19वें ओवर में फिर वुड्स को दो चौके और एक छक्का लगाकर 17 रन लिए।

सीम लेती गेंदों के सामने लाचार नजर आए रोहित
दाहिने हाथ के तेज गेंदबाज दीपक चहार ने लुइस को आउटस्विंगर पर पगबाधा आउट किया। लुइस ने आईपीएल के इतिहास में पहली बार डीआरएस का इस्तेमाल किया लेकिन फैसला चेन्नई के पक्ष में गया. कप्तान रोहित सीम लेती गेंदों के सामने एक बार फिर लाचार नजर आए। शेन वॉटसन ने उन्हें अंबाती रायुडू के हाथों लपकवाया। इसके बाद सूर्यकुमार और किशन ने टीम को संकट से निकाला।  सूर्यकुमार ने वॉटसन को छठे ओवर में एक चौका और एक छक्का लगाया।

वहीं किशन ने इमरान ताहिर के 11वें ओवर में दो चौके और एक छक्का लगाया। सूर्यकुमार को 34 के स्कोर पर जीवनदान मिला जिन्होंने ड्वेन ब्रावो को 12वें ओवर में तीन चौके लगातार जड़े। बड़े स्कोर की ओर बढते सूर्यकुमार को वॉटसन ने ही पवेलियन भेजा जबकि किशन को ताहिर ने शार्ट थर्डमैन पर लपकवाया। चेन्नई के लिये वॉटसन ने 29 रन देकर दो विकेट लिए।