featured देश

कोरोना को लेकर केंद्र सरकार सख्त, 31 मार्च तक बढ़ाई गाइडलाइन, राज्यों को सावधानी बरतने के निर्देश

नई दिल्ली: देश में कोरोना एक बार फिर से कोरोना संकट बढ़ाने लगा है। ऐसे में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने महामरी की रोकथाम के लिए 27 जनवरी से लागू गाइडलाइन को एक बार फिर बढ़ा दिया है। देश भर में कोरोना से जुड़े दिशा निर्देश 31 मार्च तक लागू रहेंगे। इस संदर्भ में गृह सचिव अजय भल्ला (Home Secretary Ajay Bhalla) ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोरोना दिशानिर्देशों को 31 मार्च तक बढ़ाने हेतु पत्र लिखा है। इस पत्र में सभी राज्यों से कहा कि महामारी को पूरी तरह से दूर करने के लिए सावधानी और कड़ी निगरानी बनाए रखने की जरूरत है।

गृह मंत्रालय ने कहा, ‘कोरोना वायरस से जुड़े दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन किया जाना चाहिए। संबंधित प्रशासन द्वारा जारी किए गए दिशानिर्देशों का पालन करते हुए सभी गतिविधियों की अनुमति दी गई है। पड़ोसी देशों से व्यापार के लिए लोगों के आने जाने और वस्तुओं के आदान-प्रदान पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा।’

देश में बढ़े एक्टिव मामले

मंत्रालय ने ये भी कहा है कि देश में एक्टिव केस और नए मामलों की संख्या में पिछले कुछ महीनों की तुलना काफी गिरावट आई है। लेकिन फिर भी महामारी को पूरी तरह से दूर करने के लिए सावधानी और कड़ी निगरानी रखने की आवश्यकता है।

क्या है कोरोना गाइडलाइंस

दरअसल सरकार ने महामारी से बचाव के लिए 27 जनवरी तक दिशानिर्देश लागू किए थे। नई गाइडलाइन के साथ ही सिनेमा हॉल और थिएटरों को दर्शकों के साथ चलाने की अनुमति दी गई है। एक राज्य से दूसरे राज्य लोगों की आवाजाही और वस्तुओं की ढुलाई पर कोई रोक नहीं है। स्वीमिंग पूल को भी इस्तेमाल की अनुमति दे दी गई है।

वाणिज्यिक यात्री उड़ानों की निलंबन 31 मार्च तक बढ़ा

विमानन नियामक डीजीसीए ने अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ान सेवाएं निलंबित रखने की अवधि 31 मार्च तक के लिये बढ़ा दी। कोविड-19 महामारी के कारण अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन पिछले साल 23 मार्च से निलंबित है. हालांकि चुनिंदा मार्गों पर अंतरराष्ट्रीय अनुसूचित उड़ानों को सक्षम प्राधिकरण द्वारा मामला-दर-मामला आधार पर अनुमति दी जा सकती है।

गाइलाइन बढ़ाने के पीछे ये है वजह ?

दरअसल पिछले कुछ दिनों से देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। पिछले तीन दिनों से लगातार देश में 16 हजार से ज्यादा केस सामने आ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में 16 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं। इससे पहले गुरूवार और शुक्रवार को भी 16 हजार से अधिक केस सामने आए थे।

Related posts

जज का मूड खराब देखकर वकील ने मांगी आगे की तारीख, कोर्ट ने किया मंजूर

Rani Naqvi

निर्भया रेप केस को पूरे हुए पांच साल, कब बदलेगी तस्वीर…

Vijay Shrer

नगा संधि देश की संप्रभुता से समझौता : कांग्रेस

bharatkhabar