केंद्र सरकार ने कोरोना मरीजों को दी बड़ी राहत, जानिए कैसे

लखनऊ: कोरोना की मार झेल रहे लोगों के लिए केंद्र की मोदी सरकार राहत लेकर आई है। केंद्र सरकार ने विभिन्न फार्मा कंपनियों की कोरोना में लाभदायक/महत्वपूर्ण एन्टी वायरल दवा Remedisivir की दरों को काफी कम कर दिया है। अब नई दवा के दाम काफी कम हो गए हैं।

सभी दवाओं के गिरे दाम

केडिला हेल्थकेयर लिमिडेट की दवा रेमडेक के दाम पहले 2800 रुपए थे जो अब 899 रुपए कर दिए गए हैं। वहीं बायोकॉन बायोटिक्स की दवा रेमविन के दाम पहले 3950 रुपए थे जो अब 2450 कर दिए गए हैं। इसके अलावा डॉक्टर रेड्डी लेबोरेटरी लिमिटेड की दवा रेडिक्स के दाम 5,400 रुपए थे जो 27,00 रुपए कर दिये गए हैं। वहीं सिप्ला कंपनी की दवा सिपरेमी के दाम जहां 4,000 रुपए थे वो अब 3,000 रुपए कर दिए गए हैं।

केंद्र सरकार ने कोरोना मरीजों को दी बड़ी राहत, जानिए कैसे

इसके अतिरिक्त मायलेन फार्मासिटिकल्स लिमिडेट दवा डेसरेम के दाम जहां 4800 रुपए थे वो अब 3400 रुपए कर दिए गए हैं। वहीं जुबीलेंट जेनेरिक्स की दवा जूबीआर के दाम जहां 47,00 थे वो अब 34,00 रुपए कर दिए गए हैं। इसके अतिरिक्त हेटेरो हेल्थकेयर की दवा कोविफोर जहां 54,00 रुपए में मिल रही थी वो अब 34,90 रुपए में मिलेगी।

कोरोना मरीजों को मिलेगी बड़ी राहत

निमोनिया की बीमारी के बीच कोरोना के कहर में रेमेडिसिविर दवा काफी कारगत होती है। कोविड-19 के मरीजों पर भी इस दवाई का इस्तेमाल किया जाता है। केंद्र सरकार की इस कोशिश से संजीवनी बनी ये दवा लोगों की जेब पर कम असर डालेगी और गरीब जनता को भी इससे काफी राहत मिलेगी। कुल मिलाकर केंद्र सरकार का ये निर्णय कोरोना का इलाज करा रहे लोगों के लिए रामबाण साबित हो सकता है।

महंगे दामों पर बेची जा रही थी दवा

बता दें कि अभी हाल ही में इस दवा का स्टाक कम दिखाकर इसे ब्लैक में बेचा जा रहा था। मुख्य मीडिया और सोशल मीडिया और में लगातार इसकी खबरें आ रही थीं, इसके अलावा कहीं-कहीं निमोनिया में काम आने वाली Remedisivir दवा को एक लाख रुपए तक बेचा गया है। दवा को खरीदने के लिए लोगों की भारी भीड़ भी इकट्ठा हो रही थी।

मीडिया लगातार इस दवा की कमी की खबर दिखा रहा था। ये दवा निमोनिया और कोविड मरीजों के लिए प्राणदायिनी है, ऐसे में केंद्र और राज्य सरकार को कोशिश करनी होगी कि इस दवा की दोबारा कोई कमी न होने पाए।

अब इन नंबरों पर भी फोन कर मदद ले सकते हैं कोरोना पीड़ित

Previous article

कोरोना के खिलाफ जंग के लिए सीएम ने सवा दो अरब रूपए किए जारी

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured