जीएसटी की विसंगतियों को दूर करे केंद्र : कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने आम बजट से ठीक पहले हो रही वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) काउंसिल की 24 वीं बैठक से ठीक एक दिन पहले केंद्र से जीएसटी की विसंगतियों को दूर करने की अपील की है। जीएसटी काउन्सिल की बैठक से पहले पंजाब के वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता मनप्रीत बादल ने पार्टी मुख्यालय पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा, ‘ये बताया गया था कि जीएसटी के आने से राजस्व में इजाफा होगा और महंगाई कम होगी| लेकिन, राजस्व में कमी हो गई और महंगाई बढ़ गई।

congress
congress

उन्होंने कहा, ‘जीएसटी को सरल टैक्स बताया गया जबकि अभी जुलाई की रिटर्न दाख़िल करने का काम पूरा नहीं हो पाया है। कांग्रेस नेता ने पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों पर केंद्र को घेरते हुए कहा, ‘कल होने वाली जीएसटी काउन्सिल की बैठक में हमारी कोशिश होगी कि जीएसटी में पेट्रोलियम उत्पाद और रियल इस्टेट शामिल हो। उन्होंने कहा, ‘कल की बैठक में जीएसटी क़ानून में बदलाव लाने का एजेंडा है। खुदरा महंगाई नवम्बर में सबसे ज़्यादा रही है जिससे आम लोग काफ़ी परेशान हुए हैं।’

वहीं पंजाब के वित्त मंत्री ने जीएसटी को नुकसानदायक बताते हुए कहा कि जीएसटी से पंजाब को लगभग 40% राजस्व का नुक़सान हुआ है। उन्होंने कहा, ‘मिनरल वॉटर पर 18% टैक्स है| इस तरह की विसंगतियों को दूर करने की बात कल जीएसटी परिषद में उठाने की कोशिश की जाएगी। कांग्रेस जीएसटी के ख़िलाफ़ नहीं है, लेकिन इसे सही ढंग से लागू करना चाहिए।