featured

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सैनिकों के बच्चो को सीबीएसई ने दी बढ़ी राहत

PicsArt 02 21 02.32.52 पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सैनिकों के बच्चो को सीबीएसई ने दी बढ़ी राहत

पुलवामा में हुए आतंकी हमलों में शहीद हुए सैनिकों के बच्चों को केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने बढ़ी राहत प्रदान की है।दरअसल 10वीं व 12वीं की परीक्षा दे रहे शहीदों के बच्चे चाहें तो अपने शहर में परीक्षा केन्द्र में परिवर्तन कर सकते हैं। इसके अलावा, उन्हें परीक्षा के लिए शहर बदलने की भी छूट प्रदान की गई है।

सिर्फ इतना ही नहीं अगर उनकी प्रैक्टिकल परीक्षा छूट भी गई है तो वह दोबारा सहूलियत के हिसाब से 10 अप्रैल तक स्कूल स्तर पर प्रैक्टिकल से सकते है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इन बातो में सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि यदि कोई परीक्षार्थी किसी विषय के पेपर को बाद में देना चाहता है तो उसे भी अनुमति है। बोर्ड का कहना है कि इसकी सूचना परीक्षार्थी को स्कूल के माध्यम से 28 फरवरी तक देनी होगी ताकि बोर्ड आगे के लिए पूरा प्लान जारी कर सके और बच्चों को सुविधा अनुसार उनके पेपर और प्रैक्टिकल पूरे करा सकें।

सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि अगर ऐसे बच्चे प्रायोगिक परीक्षा नहीं दे पाते हैं तो उनकी सुविधा के हिसाब से 10 अप्रैल तक यह परीक्षा आयोजित हो सकती है। अगर वह किसी भी ऑफर्ड विषय की परीक्षा बाद में देना चाहते हैं तो उन्हें ऐसा करने दिया जाएगा। उन्होंने ये भी बताया कि ऐसे उम्मीदवार स्कूलों को अपना आग्रह भेज सकते हैं और स्कूल उस आग्रह को आगे संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय में सीबीएसई द्वारा आगे की कार्रवाई के लिए भेजेगा।

गौरतलब है की बीती 14 फरवरी को आतंकियों ने सीआरपीफ के काफिले पर हमला किया था जिसमे सेना के करीब 40 जवान वीर गति को प्राप्त हो गए थे जिसके बाद पुरे देश ने आक्रोश का माहौल पैदा हो गया था और पूरा देश शोक में डूब गया था…लोगो ने जगह जगह पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए थे साथ ही पाकिस्तान के पुतले भी फूके थे.

Related posts

Share Market Opening: शेयर बाजार की शानदार शुरुआत, सेंसेक्स और निफ्टी में भारी उछाल

Rahul

मायावती के बयान पर रामविलास पासवान का पलटवार कहा, नोटबंदी के समय जमा किए 104 करोड़ रुपए

Ankit Tripathi

उत्तराखंड में सियासी हलचल तेज, मुश्किल में कांग्रेस, हरीश रावत और प्रीतम सिंह दिल्ली के लिए हुए तलब

Neetu Rajbhar