featured यूपी

सीबाआई ने अपने हाथ में ली  यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी घोटाले की की जांच, जीने क्या है पूरा मामला

cbi सीबाआई ने अपने हाथ में ली  यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी घोटाले की की जांच, जीने क्या है पूरा मामला

नई दिल्ली। अब सीबीआई ने यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी घोटाले की की जांच अपने हाथ में ले ली है। इसमें जांच एजेंसी ने अपनी एफआईआर में अथॉरिटी के पूर्व सीईओ पीसी गुप्ता और 20 अन्य लोगों के नाम दर्ज किए हैं। सीबीआई के अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार की सिफारिश पर एजेंसी ने 126 करोड़ रुपये के जमीन खरीद घोटाले की जांच संभाली है।

बता दें कि यूपी सरकार ने इस जुलाई, 2018 में इस मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। आरोप है कि यमुना एक्सप्रेस इंडस्ट्रियल डिवेलपमेंट अथॉरिटी के सीईओ गुप्ता ने अधिकारियों और कर्मचारियों को गठजोड़ बनाकर मथुरा के 7 गांवों में 19 कंपनियों की मदद से 85.49 करोड़ रुपये में जमीन की खरीद की थी। इसके बाद इस जमीन को अथॉरिटी को ऊंचे दामों पर बेचा गया, जिसके चलते 126 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था।

वहीं इस जमीन खरीद घोटाले के आरोपी के तौर पर पुलिस ने पिछले दिनों ही बुलंदशहर से अजीत नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है। जांच में पता चला है कि अजीत अथॉरिटी के तत्कालीन ओएसडी का रिलेटिव है। इस मामले में अथॉरिटी के सीईओ रहे पीसी गुप्ता जेल में हैं। 15 दिसंबर को तत्कालीन एसीईओ सतीश कुमार को पुलिस ने अरेस्ट किया था। इस केस में कार्रवाई में ढील को लेकर शासन ने सख्त रुख अपनाया था।

Related posts

भोपाल में NSUI कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने जमकर चलाईं लाठियां, नई शिक्षा नीति का कर रहे थे विरोध

Rahul

गोंडाः जिले के 15 ब्लॉकों में से 11 पर निर्विरोध भाजपा का कब्जा, 4 पर आज मतदान

Shailendra Singh

आर.के भारद्वाज के पास पीएम के संसदीय क्षेत्र की कमान, तो मंजिल सैनी संभालेंगी मेरठ

piyush shukla