देवरिया कांड की जल्द शुरु होगी सीबीआई जांच, एसआईटी-एसटीएफ की मदद से जुटाए कई साक्ष्य

नई दिल्ली : देवरिया के महिला संरक्षण गृह में बंद लड़कियों के यौन उत्पीड़न और प्रताड़ना सहित अन्य आरोपों की जांच सीबीआई शनिवार से शुरू कर सकती है। एसआईटी और एसटीएफ की मदद से सीबीआई ने तमाम साक्ष्य जुटाए हैं। जल्द ही केस दर्ज करके गहनता से छानबीन की जाएगी। इसके लिए लखनऊ से सीबीआई की विशेष टीम देवरिया भेजी जानी है।

देवरिया के अफसर खौफजदा

महिला संरक्षण गृह में गड़बड़ियों की जांच सीबीआई को दी गई है। इससे गोरखपुर और देवरिया के अफसर खौफजदा हैं। सूत्रों का कहना है कि देवरिया की गिरिजा त्रिपाठी ने संस्था बनाकर तमाम गड़बड़ियां की हैं। गलत तरीके से सूडा, डूडा से फंड लेने का आरोप भी है। साथ ही बुजुर्ग महिलाओं के नाम पर पेंशन में फर्जीवाड़े का तथ्य सामने आया है।

अधिकारियों से पूछताछ भी संभव

सीबीआई सभी मामलों की जांच करेगी, फिर चार्जशीट दाखिल कर आगे की कार्रवाई करेगी। सीबीआई जांच के आदेश से ही गोरखपुर मंडल और लखनऊ के तमाम अफसर, नेता सहमे हैं। गिरिजा की जड़ मजबूत करने वालों तक जांच की आंच पहुंचनी तय है। समाज कल्याण, डिप्टी रजिस्ट्रार चिट एंड फंड, महिला कल्याण और जिला प्रोबेशन अधिकारियों से पूछताछ भी संभव है।

एसटीएफ की मदद से तलाशी जाएंगी लापता लड़कियां

देवरिया के नारी संरक्षण गृह से लापता लड़कियों की तलाशी में एसटीएफ गोरखपुर को भी लगाया गया है। जांच के लिखित आदेश जैसे ही मिलेंगे, वैसे ही टीम देवरिया जाएगी। तमाम साक्ष्य जुटाकर लापता लड़कियों की तलाश करेगी। मामले के पर्दाफाश के लिए एसटीएफ फोन कॉल डिटेल भी खंगालेगी। देवरिया स्थित संरक्षण गृह और गोरखपुर वृद्धाश्रम के आसपास के सीसीटीवी फुटेज की छानबीन होगी ताकि मामले से जुड़ी हर कड़ी तलाशी जा सके। संरक्षण गृह, वृद्धाश्रम तक पहुंचने वाली बड़ी-बड़ी गाड़ियों का राज भी एसटीएफ को तलाशना है।

ये भी पढ़ें: 

देवरिया कांड पर सीएम योगी का एलान, सीबीआई करेगी मामले की जांच

देवरियां कांड में पीड़िता ने किया ऐसा खुलासा, सुनकर रह जाएंगे दंग

by ankit tripathi