November 28, 2021 8:01 am
featured यूपी

सावधान! पेंशनर्स के अकांउट पर साइबर ठगों की पैनी नज़र

cyber सावधान! पेंशनर्स के अकांउट पर साइबर ठगों की पैनी नज़र
चीफ ट्रेजरी ऑफिसर ने पेंशनर्स के लिए जारी किया अलर्ट

लखनऊ। गवर्नमेंट नौकरी से रिटायर्ड होने के बाद पेंशन पेंशनर्स का एक बड़ा सहारा है। कोरोना काल में पेंशनर्स के लिए इन रुपयों के मायने और भी ज्यादा हैं। लेकिन साइबर ठग पेंशनर्स की जीवन भर की कमाई पर सेंधमारी कर रहें हैं। साइबर ठग ट्रेजरी आफिस के नाम पर पेंशनर्स को फोन कर आधार कार्ड और पैनकार्ड की डिटेल्स मांग रहे है। डिटेल्स मिलने के बाद ठग पेंशनर्स का अकांउट खाली कर रहे हैं। पेंशनर्स की शिकायतों के बाद ट्रेजरी डायरेक्टर ने अलर्ट जारी कर पेंशनर्स से अपील की है कि, वह किसी अनजान शख्स को अपनी महत्वपूर्ण डिटेल्स साझा न करें।

दरअसल, ट्रेजरी डायरेक्टर राकेश त्रिपाठी ने बताया कि इन दिनों साइबर ठग कुछ पेंशनर्स को कॉल कर आधार और पैन कार्ड की जानकारी ले रहे हैं। मामले को संज्ञान में लेते हुए कोषागार डिपार्टमेंट ने सभी पेंशनर्स को सूचित किया है। विभाग किसी भी पेंशनर्स से आधार और पैन कार्ड नंबर जानने के लिए कॉल नहीं करता है। यदि कॉल कर कोई भी शख्स आपस से आधार और पैन कार्ड नंबर मांगता है, तो अपनी डिटेल्स बिल्कुल भी साझा न करें। असल में कॉल करने वाला शख्स ठग हो सकता है।

ऑनलाइन जीवन प्रमाणपत्र की सुविधा

उन्होने बताया कि, कोरोना काल में पेंशनर्स को अपने जीवन प्रमाण पत्र को हासिल करने के लिए विभाग के चक्कर लगाने नहीं पड़ेगे। इसके लिए पेंशनर्स अपने नजदीकी साइबर कैफे व जनसेवा केंद्र से jeevanpraman.gov.in पर अपना जीवन प्रमाणपत्र बना सकते हैं। बताया कि इन जनसेवा केंद्रो पर डिवाइज भी उपलब्ध है। जो डिजीटल लाइफ सार्टिफिकेट जनरेट करता है । पेंशनर्स को हार्ड कॉपी भरकर ट्रेजरी में जमा करने की आवश्यकता है, और न ही पेंशनर्स को ट्रेजरी में आने की जरुरत है।

इस तरह से कर रहे सेंधमारी

साइबर सेल यूनिट के मुताबिक, साइबर ठग एटीएम कार्ड की क्लोनिंग, बैंक अकाउंट, बीमा पॉलिसी रिन्यू, लकी ड्रॉ, ऑनलाइन शॉपिंग समेत क्रेडिट कार्ड को आधार कार्ड सें लिंक करने के बहाने लोगों की महत्वपूर्व जानकारी हासिल करत हैं। इसके अलावा केवाईसी अपडेट का झांसा देकर लोगों से फ्रॉड करते हैं। वहीं कुछ मामले ऐसे भी समाने आए है। जहां सोशल मीडिया पर ठगों दोस्ती कर विदेश से गिफ्ट भेजने के नाम पर लोगों को अपना शिकार बनाया है।

ठगों ने खोल दिए कॉल सेंटर

यूपी के अलावा पूरे देश में सैकड़ो की संख्या में साइबर ठगी के गिरोह सक्रिए है। एक रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली-नोएडा में ठगों ने बड़े-बड़े कॉल सेंटर खोल रखे हैं। जबकि झारखंड के जामतारा कस्बे को ठगों ने अपना सबसे बड़ा अड्डा बना लिया है। विदेशों से भी कई गिरोह लोगों को  अपना निशाना बना रहे हैं।  तो वहीं पुलिस विभाग की मानें तो ठगी करने वाले आरोपित दूरदराज़ बैठे हैं। कोई दिल्ली-नोएडा या फिर गाजियाबाद से गिरोह चला रहा है, तो कोई झारखंड से ठगी की घटनाओं को अंजाम दे रहा है। बताया कि कोई गिरोह विदेश से रुपए उड़ा रहा है। पुलिस कानून व्यवस्था में फंसी रहती है और साइबर सेल के पास संसाधनों का अभाव है। ऐसे में शहर से बाहर जाने के लिए गाड़ी, ठहरने और खाने-पीने का खर्च नहीं मिलता। जिससे कोई भी पुलिसकर्मी बाहर जाकर दबिश दे। यही वजह है कि पुलिसकर्मी इन मामलों में रुचि नहीं लेते, तभी साइबर सेल यूनिट और राजधानी के कई थानों में साइबर फ्रॉड के मामले बढ़ते जा रहें हैं।

Related posts

फिर सुलग सकती है जाट आंदोलन की आग, पुलिसबल तैनात

bharatkhabar

मिठाई की दुकानों में भिनभिनाती मिलीं मक्खियां, FSDA ने थमाया नोटिस

Shailendra Singh

मैनपुरीः ओमप्रकाश राजभर का बड़ा बयान, कहा हमसे बड़ा गुंडा कौन !

mahesh yadav